यह है दुनिया का सबसे महंगा तकिया, अहमदाबाद में एक तकिया की कीमत में 2BHK फ्लैट आ जाएगा

Admin
0
ऐसा रिकॉर्ड तोड़ने के लिए किया जाता है। लेकिन कुछ रिकॉर्ड्स ऐसे भी हैं जिन्हें जानकर आप हैरान हो सकते हैं। इस दुनिया में कई ऐसे लोग हैं जो अपनी बुद्धिमत्ता और बहादुरी से नए कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। अब आज हम एक ऐसे रिकॉर्ड के बारे में बात कर रहे हैं जो आपका सिर घुमा देगा। सर्वाइकल स्पेशलिस्ट से लेकर डिजाइनर तक एक शख्स ने बनाया World Most Expensive Pillow (दुनिया का सबसे महंगा तकिया)।

यह है दुनिया का सबसे महंगा तकिया, अहमदाबाद में एक तकिया की कीमत में 2BHK फ्लैट आ जाएगा



आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, Tailormade Pillow (टेलरमेड पिलो) दुनिया का सबसे विशिष्ट और उन्नत तकिया है। यह मिस्र के कपास और शहतूत रेशम से बना है और गैर विषैले डच मेमोरी फोम से भरा है। इसका निर्माण नीदरलैंड के थिज्स वैन डेर ने किया है। एक आर्किटेक्चरल डाइजेस्ट के अनुसार, तकिए अनुमानित रूप से 57,000 डॉलर यानी 45 लाख रुपये में बिकते हैं।

यह दुनिया का एक अनोखा गांव है, जहां लोग चलते-चलते सो जाते हैं और महीनों बाद जागते हैं

वेबसाइट के मुताबिक इस खास तकिए को बनाने में हिल्स्टन को 15 साल लगे। इसमें 24 कैरेट सोने, हीरे और नीलम का उपयोग किया जाता है। इसके अलावा तकिए को भरने के लिए जिस कॉटन का इस्तेमाल किया गया है वह रोबोट मिलिंग मशीन से आता है।

World Most Expensive Pillow

तकिए में 24 कैरेट सोने का कवर होता है। एक चमकदार कपड़ा कवर जो कथित तौर पर सुरक्षित और स्वस्थ नींद के लिए सभी विद्युत चुम्बकीय विकिरण को अवरुद्ध करता है। प्राइस टैग में अटैच करने के लिए 22.5 कैरेट नीलम और चार डायमंड वाली जीप दी गई है।

World Most Expensive Pillow

वेबसाइट के अनुसार, हाई-टेक तकनीक और पुराने जमाने की मूर्तिकला तकनीक और दर्जी तकिए का सहज मिलान सभी व्यक्तिगत तकियों में अब तक का सबसे नवीन और बेहतर है।

World Most Expensive Pillow

ये है दुनिया की सबसे छोटी कार देखे यहाँ

इन तकियों को एक ब्रांडेड बॉक्स में पैक किया जाता है। Hilst (हिल्स्ट) का दावा है कि ये तकिए अनिद्रा से पीड़ित लोगों को बेहतर नींद लेने में मदद करते हैं। वेबसाइट के मुताबिक, ये तकिए हर ग्राहक के लिए कस्टम मेड हैं।


किसी व्यक्ति के कंधे, सिर और गर्दन के प्रत्येक आयाम को 3D स्कैनर का उपयोग करके सावधानीपूर्वक मापा जाता है। फिर इसे डच मेमोरी फोम से भर दिया जाता है, जो हाई-टेक रोबोटिक मशीन मिल का उपयोग करके व्यक्ति के सिर के आकार के अनुकूल हो जाता है। आपको बता दें कि इन तकियों को बनाने से पहले व्यक्ति के सिर के आकार और उसके सोने की स्थिति का भी ध्यान रखा जाता है। कंपनी का कहना है कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप जवान हैं या बूढ़े, पुरुष हैं या महिला, साइड स्लीपर हैं या बैक स्लीपर। आपका सिलवाया हुआ तकिया आपका अच्छी तरह से समर्थन करता है।

Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)