गुजरात के इस कैफ़े में खाना खाएं बिलकुल फ्री - जाने कहा है कैफ़े

Admin
0


स्वादिष्ट Food हर किसी को पसंद होता है, यही वजह है कि लोग अक्सर अच्छे होटल, रेस्टोरेंट या कैफे की तलाश में निकल जाते हैं। लेकिन हर दिन बाहर खाना अक्सर किसी की जेब पर भारी पड़ता है। क्योंकि एक अच्छे रेस्टोरेंट और कैफ़े में मनपसंद Food खाने के लिए आपको बहुत बड़ी रकम चुकानी पड़ती है। लेकिन अहमदाबाद में एक अनोखा कैफे है जहां आप बिलों की चिंता किए बिना भरपेट भोजन कर सकते हैं। मजेदार बात यह है कि इसके लिए आपको अपनी मर्जी से बिलों का भुगतान करने की आजादी है। यानी अगर आप 500 रुपये या 1000 रुपये का भोजन करना चाहते हैं, लेकिन आपको खुद तय करना होगा कि बिल का कितना भुगतान करना है।

गुजरात के इस कैफ़े में खाना खाएं बिलकुल फ्री - जाने कहा है कैफ़े

दरअसल इस अनोखे रेस्टोरेंट का नाम "Seva Cafe" है। यह अन्य कैफे से बहुत अलग है। यहां आपको न सिर्फ स्वादिष्ट खाना मिलता है बल्कि आपको बिलों की भी चिंता करने की जरूरत नहीं है। क्योंकि यहां गिफ्ट इकॉनमी की करेंसी है। इसके तहत आपके खाने के बिल का भुगतान पहले ही कोई और कर चुका है। इसमें आप जब यहां खाने के लिए आते हैं तो दूसरे व्यक्ति का बिल अपनी मर्जी से चुका सकते हैं। इससे किसी की जेब पर ज्यादा बोझ नहीं पड़ेगा। 


बिना पेट्रोल चलने वाला स्कूटर !  सिर्फ 5 मिनट में तैयार हो जायेगा

आज के उस समय के बारे में सोचें जब लोग लाभ कमाने के लिए अलग-अलग तरीकों का सहारा लेते हैं। लोगों को इस तरह की सुविधा देने वाला एक रेस्टोरेंट है। गुजरात के अहमदाबाद में Seva Cafe ऐसे लोगों को खाना परोस रहा है। यह रेस्टोरेंट पिछले 12 साल से गिफ्ट इकॉनमी पर चल रहा है। जब बिल का भुगतान करने की आपकी बारी आती है, तो आपकी मेज पर एक खाली लिफाफा रखा जाता है। इस कवर में खाने का बिल नहीं है लेकिन आपके नाम से किसी ने पहले ही खाने के बिल का भुगतान कर दिया है। अब आपको भी इस गिफ्ट में किसी और को अपनी मर्जी से पैसे देने होंगे।



12 साल से चली आ रही है परंपरा

Seva Cafe एक अलग तरह का रेस्टोरेंट है, जहां सेवाभाव ही धर्म है। यह कैफे पिछले 12 साल से गिफ्ट इकॉनमी पर चल रहा है। इसके तहत आपको खाना खाने के बाद बिल नहीं देना होगा। क्योंकि आपका बिल पहले ही चुकाया जा चुका है। ऐसे में जब आप यहां आएंगे तो दूसरे ग्राहक के लिए भी आपको अपने विवेक से बिल का भुगतान करना होगा। आप कितना पैसा उपहार में देना चाहते हैं यह आप पर निर्भर करता है, कोई भी आपको इसके लिए बाध्य नहीं करेगा।



Cafe स्वयंसेवकों और NGO की मदद से चलाया जाता है

Cafe एक NGO की मदद से चलाया जाता है। काम में मदद करने के लिए एक स्वयंसेवक भी है। वे सभी ग्राहकों को संतुष्ट करने की पूरी कोशिश करते हैं, इसलिए स्वच्छता और भोजन की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाता है। इस कैफे में स्टूडेंट्स से लेकर प्रोफेशनल्स और टूरिस्ट भी फ्री में काम करते हैं। अगर आपको खाना बनाना या परोसना पसंद है और आप मदद करना चाहते हैं, तो आप अपने दम पर काम कर सकते हैं। यदि आप बर्तन अच्छी तरह धोना जानते हैं, तो आप बर्तन भी धो सकते हैं।


यह युवती बेकार फूलों का उपयोग करके कमाती है हर महीने लाखों रुपये

कैफे के प्रबंधक का कहना है कि Seva Cafe एक ऐसा विचार है जहां स्वयंसेवक आते हैं और अतिथि देवताओं की कीमत पर लोगों को खाना खिलाते हैं। अतिथि देवो भव की कीमत पर परोसा जाने वाला भोजन किसी भी कीमत पर मूल्यवान नहीं हो सकता। कैफे गुरुवार से रविवार तक शाम 7 बजे से रात 10 बजे तक या 50 मेहमानों के आने तक खुला रहता है। महीने के अंत में यहां से जो भी पैसा इकट्ठा होता है उसे चैरिटी फंड में जमा कर दिया जाता है।




महंगाई के इस दौर में इस देश में ऐसे रेस्टोरेंट का होना बहुत अजीब है। अगर आप Seva Cafe जाकर सेवाभाव का मजा लेना चाहते हैं तो अहमदाबाद के CG हाईवे रोड पर म्युनिसिपल मार्केट के सामने स्थित इस कैफे में जा सकते हैं। इस कैफे में मेहमानों का इतना स्वागत होगा कि आप अपनी जेब पर नियंत्रण नहीं रख पाएंगे। इस कैफे के आतिथ्य की चर्चा अब देशभर में शुरू हो गई है।



Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)