इन 16 दवाओं को लेने के लिए अब आपको डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन की जरूरत नहीं - जानिए कौनसी हैं ये दवाएं

Admin
0
Fever (बुखार), Body Ache (बदन दर्द) आदि को नियंत्रित करने के लिए अक्सर ज्यादातर लोग Paracetamol (पैरासिटामोल) का सेवन करते हैं। यह दर्द से भी छुटकारा दिलाता है। यह एक ऐसी दवा है जिसके लिए आपको Doctor (डॉक्टर) के पास जाने की जरूरत नहीं है, लेकिन इसके साथ बड़ी समस्या यह थी कि आपको इसे Medical Store (मेडिकल स्टोर) से लेने के लिए Doctor Prescription (डॉक्टर की प्रिस्क्रिप्शन) दिखानी पड़ती थी।

इन 16 दवाओं को लेने के लिए अब आपको डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन की जरूरत नहीं - जानिए कौनसी हैं ये दवाएं


इस जटिलता के कारण लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके ज्यादा इस्तेमाल और जनता की सुविधा को देखते हुए सरकार अब Paracetamol (पैरासिटामोल) और आमतौर पर इस्तेमाल होने वाली 15 अन्य दवाओं को OTC लिस्ट में डालने जा रही है। OTC का मतलब ओवर द काउंटर है। सीधे शब्दों में कहें तो इन दवाओं को लेने के लिए अब आपको Doctor Prescription (डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन) को दिखाने की जरूरत नहीं है।

यदि दवा के पैकेट पर लाल रेखा है, तो खरीदते समय अवश्य पढ़ें

गजट नोटिफिकेशन जारी

रिपोर्ट के मुताबिक इन 16 Medicine (दवाओं) को एक्ट की अनुसूची K में शामिल करने के लिए ड्रग रूल्स 1945 में संशोधन करने के लिए Health Ministry (स्वास्थ्य मंत्रालय) की ओर से गजट नोटिफिकेशन जारी किया गया है। इस बदलाव के बाद अब रिटेलर्स इन दवाओं को बिना Doctor Prescription (डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन) के बेच सकेंगे। सरकार ने आमतौर पर इस्तेमाल होने वाली दवाओं को सभी को आसानी से उपलब्ध कराने के लिए यह कदम उठाया है।

कुछ शर्तें पूरी करनी पड़ती हैं

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि इन दवाओं को कुछ शर्तों के अधीन बिना Prescription (प्रिस्क्रिप्शन) के बेचा जा सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इन दवाओं के मामले में, उपचार या उपयोग की अधिकतम अवधि 5 दिनों से अधिक नहीं होनी चाहिए। यदि रोगी को 5 दिनों के भीतर राहत महसूस नहीं होती है, तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक महीने के भीतर सभी हितधारकों से सुझाव मांगे हैं।

ये दवाएं बिना प्रिस्क्रिप्शन के उपलब्ध होंगी

बिना प्रिस्क्रिप्शन के उपलब्ध दवाएं, जैसे पेरासिटामोल (Paracetamol), डाइक्लोफेनाक (Diclofenac), नेज़ल डिकॉन्गेस्टेंट (Nasal Decongestants), एंटी-एलर्जी दवाएं (Anti-Allergics), एंटीसेप्टिक और कीटाणुरहित एजेंट, माउथवॉश क्लोरहेक्साइडिन (Chlorohexidine) मसूड़े की सूजन के इलाज के लिए, जिंजीविथेरोक्सिन डेक्सट्रोमेथॉर्फ़न हाइड्रोब्रोमाइड लोज़ेंग (Dextromethorphan Hydrobromide Lozenges), एंटी-बैक्टीरियल एक्ने फॉर्मूलेशन, एंटी-फंगल क्रीम, एंटी-कफ, एनाल्जेसिक क्रीम फॉर्मूलेशन और एंटी- खांसी के इलाज के लिए एलर्जी कैप्सूल।

दवा की गोलियों के बीच एक सीधी रेखा क्यों होती है? - जाने कारण


Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)