दवा की गोलियों के बीच एक सीधी रेखा क्यों होती है? - जाने कारण

Admin
0
Corona काल में हम सभी Medicine के प्रति जागरूक हो गए हैं। अगर हम Medicine की बात करें तो भी Medicine दो तरह के होते हैं। एक Medicine जिसके बीच में एक लाइन होती है और एक Medicine जिसमें कोई लाइन नहीं होती है। क्या आपने कभी सोचा है कि Medicine के बीच की लाइन क्यों दी जाती है। आखिर उसका काम क्या है? तो आज हम आपको अपने इस आर्टिकल में इसके बारे में बताएंगे।

दवा की गोलियों के बीच एक सीधी रेखा क्यों होती है? - जाने कारण





Medicine की गोलियों के बीच एक सीधी रेखा क्यों होती है? ये कोई डिजाइन नहीं बल्कि इसके पीछे एक बड़ी वजह है।

medicine ke bich line ko kya kahte hai aur kyo hoti hai jaane yaha

बिना दवा का इंजेक्शन लगा ने से क्या होता है? जान कर होश उड़ जायेगा 

Medicine के बीच खींची गई रेखा का नाम और उपयोग

Medicine के बारे में पता लगाने के लिए एक फार्मासिस्ट से बात करते हुए उन्होंने कहा कि इस लाइन को पिल स्पिटर या Debossed Line कहते हैं। यह किसी भी डिजाइन के लिए नहीं किया गया है। वास्तव में इसके अपने उपयोग हैं। हमारे द्वारा उपयोग की जाने वाली Medicine या Tablet MG में पाए जाते हैं। जैसे 500 MG, 200 MG या यहां तक ​​कि 1000 MG। डॉक्टर इस डोज़ का प्रयोग रोग और समस्या के अनुसार करते हैं।

medicine ke bich line ko kya kahte hai aur kyo hoti hai jaane yaha

ऐसे मामलों में पिल स्पिटर तब काम आता है जब डोज़ ज्यादा हो, लेकिन जरूरत कम हो। इस लाइन की मदद से Medicine की डोज़ को आधा किया जा सकता है। इससे Medicine आसानी से टूट जाती है। ऐसा करने से Medicine के समीकरण पर कोई असर नहीं पड़ता है।

medicine ke bich line ko kya kahte hai aur kyo hoti hai jaane yaha

यदि दवा के पैकेट पर लाल रेखा है, तो खरीदते समय अवश्य पढ़ें यह

कुछ Medicine में यह लाइन नहीं होती है

सभी Medicine में पिल स्पिटर देना आवश्यक नहीं है। एक विशेष कोटिंग वाली Medicine तोड़ी नहीं जाती हैं। कुछ Medicine ऐसी हैं जिन्हें फार्मेसी में तोड़ा नहीं जा सकता। ऐसा करने से इसका समीकरण प्रभावित होता है। इन Medicine में पिल स्पिटर नहीं दिया जाता हैं। इसलिए किसी भी मामले में Doctor की सलाह पर ही Medicine लेनी चाहिए।

Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)