आप पैंट की जेब में फोन रखते है तो हो जाएं सावधान

Admin
0


आज के समय में Mobile के बिना जीवन बेकार है। लोग सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक Mobile अपने पास रखते हैं।

आप पैंट की जेब में फोन रखते है तो हो जाएं सावधान



लेकिन क्या आप जानते हैं कि Mobile Shirt या Jeans के Pocket में रखना हानिकारक है। मोबाइल का ज्यादा इस्तेमाल अंगूठे और उंगलियों को काम करने से रोकता है।

मर भी जाएं तो Hotels में किसी भी दिन न खाएं ये एक चीज

फोन की रिंग से High BP होती है

जो लोग नियमित रूप से मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं उन्हें एक मिनट की कॉल से High BP हो जाता है। इन लोगों के रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर भी बढ़ा हुआ होता है। अमेरिकन सोसाइटी ऑफ हाइपरटेंशन के एक अध्ययन में पाया गया कि फोन बजने से रक्तचाप बढ़ जाता है। जब कोई व्यक्ति फोन उठाता है तो रक्तचाप 121/77 से बढ़कर 129/82 हो जाता है।

फोन को अपनी शर्ट की जेब में न रखें

शर्ट की जेब छाती के पास है। अगर आपको दिल की बीमारी है और पेसमेकर लगा है, तो अपनी शर्ट की जेब में मोबाइल या ईयरफोन चार्जिंग केस रखना जानलेवा हो सकता है। एक अध्ययन से पता चला है कि iPhones और AirPods के नए मॉडल में हेडफोन चार्जिंग केस में मैग्नेट होते हैं जो पेसमेकर को प्रभावित करते हैं। शोध बेसल यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ एप्लाइड साइंसेज एंड आर्ट्स नॉर्थवेस्ट के स्विस वैज्ञानिकों द्वारा किया गया था।

सर गंगाराम अस्पताल, दिल्ली के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. बी.एस. विवेक ने कहा, "शर्ट में फोन सामान्य लोगों के लिए हानिकारक नहीं हैं, लेकिन पेसमेकर पहनने वाले मरीजों को इस विद्युत चुम्बकीय क्षेत्र से बचने की सलाह दी जाती है।" यह पेसमेकर 60 बीट प्रति मिनट पर सेट है। यदि मोबाइल विद्युत चुम्बकीय क्षेत्र में प्रवेश करता है तो पेसमेकर काम करना बंद कर सकता है। जो मरीज पूरी तरह से पेसमेकर पर निर्भर हैं, उन्हें इसका खतरा अधिक होता है।

मोबाइल से विकिरण के कारण स्मृति हानि की संभावना

बुखारेस्ट में ब्यू यूरोप रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट्स के एक अध्ययन के अनुसार, मोबाइल फोन से विकिरण के कारण रक्त कोशिकाओं से हीमोग्लोबिन का रिसाव होता है। यह हृदय रोग और गुर्दे की पथरी का कारण बन सकता है। विकिरण मस्तिष्क में प्रोटीन और विषाक्त पदार्थों को लीक कर सकता है। इससे अल्जाइमर और मल्टीपल स्केलेरोसिस जैसी बीमारियां हो सकती हैं।

कार्पल टनल सिंड्रोम भी हो सकता है

मोबाइल के बार-बार इस्तेमाल से पैर के अंगूठे और उंगलियां व्यस्त रहती हैं। इससे क्यूबिटल टनल सिंड्रोम भी हो सकता है। मोबाइल का उपयोग करते समय कोहनी बार-बार झुकती है। जो कोशिकाओं को प्रभावित करता है। जिससे हाथ हिलाने में दिक्कत हो सकती है। चीजों को पकड़ना भी मुश्किल हो जाता है।

क्या आप भी गुदे हुए आटे को फ्रिज में रखते हैं? - तो हो जाये सावधान

पिता बनने में हो रही परेशानी

अमेरिका के ओहियो के क्लीवलैंड क्लिनिक फाउंडेशन के एक अध्ययन से पता चला है कि अगर कोई आदमी अपनी पैंट की जेब में 4 घंटे से अधिक समय तक फोन रखता है, तो यह शुक्राणु को प्रभावित करता है। इससे शुक्राणु की गुणवत्ता में कमी आती है, जो बदले में शुक्राणुओं की संख्या को कम करता है और उन्हें कमजोर करता है।

बैटरी कम होने पर इस्तेमाल ना करे 

साथ ही मोबाइल में बैटरी कम होने के बाद कभी भी फोन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। तब भी मोबाइल अत्यधिक रेडिएशन उत्सर्जित करता है। जो बहुत ही घातक है और रात के समय कभी भी मोबाइल फोन के पास नहीं रखना चाहिए।

SAR मोबाइल फोन लेना पसंद करे

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि मोबाइल में सबसे कम SAR यानी विशिष्ट अवशोषण दर होनी चाहिए और कम SAR मोबाइल फोन के लोकप्रिय ब्रांड और मॉडल भी उपलब्ध हैं। लेकिन कई लोग इससे अनजान हैं। इसलिए जब भी आप मोबाइल खरीदें तो इस बात का खास ध्यान रखें क्योंकि यह आपकी सेहत को बनाए रखता है।


Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)