1 जून 2022 से बदलने जा रहा ये 5 नियम

Admin
0
June (जून) से कई नियम बदलने जा रहे हैं। इन बदलावों का सीधा असर हमारी जेब पर पड़ेगा। ये सभी नियम पर्सनल फाइनेंस पर लागू होते हैं। नियमों का सीधा असर State Bank (स्टेट बैंक) के होम लोन लेने वालों, AXIS Bank और India Post Payment Bank के ग्राहकों और कार मालिकों पर पड़ेगा। अगर आप भी इस कैटेगरी में आते हैं तो जून से कई नियम बदल रहे हैं। रेपो रेट और लेंडिंग रेट में बढ़ोतरी से होम लोन की EMI में बड़ा बदलाव हो सकता है। इसलिए, बैंकों के नियमों को जानें और उसी के अनुसार अपना लेनदेन जारी रखें।

1 जून 2022 से बदलने जा रहा ये 5 नियम



1 June से पर्सनल फाइनेंस से जुड़े कई नियम बदलने वाले हैं। जानिए नियमों में क्या बदलाव किए जाएंगे।

गुजरात के इस कैफ़े में खाना खाएं बिलकुल फ्री - जाने कहा है कैफ़े

1. SBI के ब्याज में वृद्धि

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने होम लोन के लिए बाहरी बेंचमार्क उधार दर को 40 आधार अंकों से बढ़ाकर 7.05 प्रतिशत कर दिया है। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने कहा है कि उधार दरों से जुड़ी ब्याज दरों में बढ़ोतरी 1 June, 2022 से लागू होगी। पहले EBLR 6.65 फीसदी था, लेकिन 40 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी के साथ यह बढ़कर 7.05 फीसदी पर आ गया है। स्टेट बैंक अब इस दर पर अपने ग्राहकों से होम लोन पर ब्याज लेगा।

2. थर्ड पार्टी बीमा प्रीमियम

निजी कारों के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस पहले से ज्यादा महंगा होगा। 2019-20 में यह बीमा 2072 रुपये था, लेकिन इसे 2094 रुपये तय किया गया है। यह 1000 CC से कम क्षमता वाली कारों के लिए है। 1000 से 1500 CC कारों के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस 3221 रुपये से बढ़ाकर 3416 रुपये कर दिया गया है। 1500 CC से अधिक क्षमता वाले वाहनों के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस को 7890 रुपये से बढ़ाकर 7897 रुपये कर दिया गया है। 150 से 350 CC के दोपहिया वाहनों के लिए बीमा प्रीमियम 1366 रुपये होगा जबकि 350 CC से अधिक की क्षमता वाले वाहनों के लिए प्रीमियम 2804 रुपये होगा।

3. गोल्ड हॉलमार्किंग

गोल्ड हॉलमार्किंग का दूसरा चरण 1 June, 2022 से शुरू होगा। देश के 256 जिलों और उनसे जुड़े 32 नए जिलों में 1 जून से सोने के आभूषणों और कलाकृतियों की हॉलमार्किंग अनिवार्य होगी। इन जिलों में असेसमेंट और हॉलमार्किंग सेंटर पहले से मौजूद हैं, इसलिए हॉलमार्किंग को अनिवार्य कर दिया गया है। इन 288 जिलों में सिर्फ 14, 18, 20, 22, 23 और 24 कैरेट सोने के आभूषण बांटे जाएंगे। ये सभी गहने अनिवार्य हॉलमार्क होने चाहिए।

4. इंडिया पोस्ट पेमेंट चार्ज

डाकघर भुगतान प्रणाली जैसे POS मशीन और माइक्रो-ATM मुफ्त सीमा से अधिक लेनदेन के लिए सेवा शुल्क के अधीन होंगे। सर्विस चार्ज का नियम 15 June से लागू होगा। इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) भारतीय डाक की एक सहायक कंपनी है, जो डाक विभाग द्वारा संचालित है। एक महीने में तीन ट्रांजैक्शन AEPS से फ्री होंगे, लेकिन उसके बाद ट्रांजेक्शन पर सर्विस चार्ज लगेगा। सीमा से अधिक नकद निकासी या जमा करने पर 20 रुपये और GST और मिनी स्टेटमेंट के लिए 5 रुपये प्लस GST के अधीन होगा।

आपकी जेब में रखा छोटा सा रुमाल भी बहुत परेशानी का कारण - जानें कैसे

5. AXIS Bank सेविंग अकाउंट चार्ज

AXIS Bank ने सेमी-अर्बन और ग्रामीण इलाकों के बचत खातों और सैलेरी प्रोग्राम के तहत खोले गए बैंक खातों के मिनिमम अकाउंट बैलेंस रखने की सीमा को बढ़ाने का निर्णय लिया है जो 1 June से लागू होने जा रहा है। Easy Saving और सैलेरी प्रोग्राम वाले खातों के लिए मिनिमम अकाउंट बैलेंस रखने की सीमा को 15,000 रुपये से बढ़ाकर 25,000 रुपये कर दिया है। या फिर 1 लाख रुपये का टर्म डिपॉजिट रखना जरुरी होगा। वहीं लिबर्टी सेविंग अकाउंट में मिनिमम अकाउंट बैलेंस रखने की सीमा को 15,000 रुपये से बढ़ाकर 25,000 रुपये कर दिया गया है। या फिर 25,000 रुपये खर्च करना होगा।

Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)