डॉक्टर की लिखावट इतनी खराब क्यों होती है - जानिए इसकी खास वजह

Admin
0


यदि आप भी बीमार पड़ते हैं, तो आपको अपने इलाज के लिए Doctor (डॉक्टर) के पास जाने की जरूरत है। आपका इलाज करने के बाद, Doctor आपको कुछ Medicine (दवाएं) लिखते हैं। हालांकि Doctor Handwriting Prescription (डॉक्टर के लिखे प्रिस्क्रिप्शन) पर असल में क्या लिखा होता है, यह हमें बिल्कुल भी समझ नहीं आता है।

डॉक्टर की लिखावट इतनी खराब क्यों होती है - जानिए इसकी खास वजह



ऐसे कई लोग होंगे जो हमेशा शिकायत करते होंगे कि Doctor Hand writing (डॉक्टर की लिखावट) इतनी Bad (खराब) क्यों है? आखिर कागज पर लिखे डॉक्टर के नुस्खे को पढ़ना इतना मुश्किल क्यों है? अगर आप भी इन सवालों के जवाब नहीं जानते हैं तो आज हम आपको इसके पीछे की वजह बताते हैं।

इन 16 दवाओं को लेने के लिए अब आपको डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन की जरूरत नहीं - जानिए कौनसी हैं ये दवाएं

आप में से 99% लोग नहीं जानते कि Why Doctor Handwriting is Bad (डॉक्टरों की लिखावट खराब क्यों) होती है, यहां जानिए क्यों होती है।

जल्दबाजी से खराब होती है Doctor Handwriting

डॉक्टरों में खराब लिखावट का सबसे महत्वपूर्ण कारणों में से एक समय की कमी है। डॉक्टर के पास हर दिन इतने मरीज आ रहे हैं कि डॉक्टर के पास इतना समय नहीं है कि वह हर मरीज को पर्याप्त समय दे सके और आराम से उससे बात कर उसे प्रिस्क्रिप्शन दे सके। साथ ही ज्यादातर डॉक्टर जल्दी में हैं। क्योंकि उन्हें एक निश्चित समय में कई मरीजों का इलाज करना होता है। समय की कमी और जल्दबाजी के कारण डॉक्टर की लिखावट खराब हो जाती है।

हाथ की मांसपेशियां भी थक जाती हैं

आपने देखा होगा कि जब आप परीक्षा का पेपर लिखते हैं तो शुरू में आपकी लिखावट बहुत अच्छी होती है, लेकिन जब पेपर खत्म हो जाता है तो आप जल्दबाजी में लिखने लगते हैं और आपकी लिखावट बिगड़ने लगती है। मुख्य कारण यह है कि आप परीक्षा में पेपर खत्म करने की जल्दी में हैं, साथ ही पेपर के अंत तक आपके हाथ की मांसपेशियां भी थक जाती हैं। इसलिए आपका चरित्र खराब होने लगता है। डॉक्टरों के साथ भी ऐसा ही होता है।

कोरोना में जितने लोगों ने Dolo की दवा ली है वो खास देखिए

मेडिकल टर्म जिम्मेदार है

डॉक्टरों की खराब लिखावट के लिए कुछ मेडिकल टर्म भी जिम्मेदार होते हैं। जरा सोचिए कि अगर एपिडीडिमाइटिस नाम की कोई बीमारी है, जिसे आपको बिना वर्तनी जांच के लिखना है, तो आप भी यह सोचकर फंस जाएंगे कि आखिर इसे कैसे लिखा जाए। इसी तरह कई मेडिकल टर्म ऐसे भी हैं जिन्हें डॉक्टर ने प्रिस्क्रिप्शन पर लिखना शुरू कर दिया तो मरीज भ्रमित हो जाएगा। हालांकि आपने देखा होगा कि आप डॉक्टर की लिखावट को भले ही नहीं समझते हों, लेकिन मेडिकल वाले इसे आसानी से समझ लेते हैं।


Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)