Blood का रंग समान है लेकिन Blood Group क्यों अलग अलग होता है?

Admin
0
सभी मनुष्यों का स्वभाव अलग-अलग होता है। आदतें अलग होती हैं और शौक भी अलग। इसी प्रकार मनुष्य का Blood Group भी भिन्न होता है। इसके पीछे एक बहुत ही महत्वपूर्ण कारण है। आमतौर पर अगर आप किसी भी आदमी का Blood देखें तो वह लाल होता है। लेकिन अगर कोई पूछे कि ये Blood Group क्या है तो आप कंफ्यूज हो जाएंगे। आप उसके Blood को देखकर उसके Blood Group के बारे में क्यों नहीं जानते?

Blood group kyo alag alag hota hai ?



सभी प्रकार के Blood एक जैसे दिखते हैं लेकिन जांच करने पर Blood के Group में अंतर होता है। कोई भी पुरुष अस्पताल जाता है तो डॉक्टर सबसे पहले पूछते हैं कि आपका Blood Group क्या है। क्या आपने कभी सोचा है कि लोगों का Blood Group अलग-अलग क्यों होता है? इसके पीछे का कारण क्या है?

किस Blood Group के लोगो को कोरोना वायरस का खतरा ज्यादा है और किसको कम - जानिए यहाँ

अलग-अलग Blood Group क्यों

क्या आप अपने Blood Group को जानते हैं, नहीं तो आप आसानी से किसी नजदीकी पैथोलॉजी लैब में जाकर जांच करा सकते हैं। लेकिन आप किसी भी लैब में यह पता नहीं लगा सकते कि Blood Group अलग-अलग क्यों हैं। और इसके क्या फायदे है। Blood Group 8 मुख्य प्रकार के होते हैं। केवल एक ही Group के Blood का आदान-प्रदान किया जा सकता है।

पहला Blood Group कब खोजा गया था?

Blood Group की जानकारी हो तो इलाज से लेकर काम तक सब कुछ बेहद आसान है। अतः मनुष्य के Blood Group को जानने के लिए अनेक खोज की गईं। सबसे पहले Blood Group की जानकारी 1908 में प्राप्त हुई थी। तब से लेकर अब तक Blood Group को लेकर कई दिलचस्प किस्से सामने आए हैं।

कौन सा Blood Group दुर्लभ है

विभिन्न प्रकार के Blood Group एक जैसे नहीं दिखते। A पॉजिटिव और O पॉजिटिव Blood Group कई दूरियों पर कॉमन होते हैं। ये दोनों Blood Group लगभग 70% पुरुषों में पाए जाते हैं। जबकि AB नेगेटिव Blood Group बहुत ही दुर्लभ माना जाता है। इनमें से हर 100 में से एक Blood Group पाया जाता है। इसलिए ऐसे Blood की जरूरत पड़ने पर काफी परेशानी होती है।

कुछ नए Blood Group मिले जिन्होंने सभी को चौंका दिया

सामान्य Blood Group के अलावा कुछ ऐसे Blood Group पाए गए हैं जो किसी अन्य Blood Group से मेल नहीं खाते हैं। ऐसा ही गुजरात में एक शख्स में देखने को मिला। जो अब तक के सभी Blood Group से अलग है। दुनिया में अब तक 12 से ज्यादा Blood Group हो चुके हैं जो किसी से मेल नहीं खाते। इसलिए ऐसे लोगों से मिलना नामुमकिन है अगर उन्हें Blood की जरूरत हो।

Mobile से Oxygen लेवल चेक कर सकते हैं - जाने कैसे

Blood के Group का निर्धारण कैसे करें

चार Group के Blood, A, B, AB और O, लाल Blood कोशिकाओं में चीनी आधारित एंटीजन A और जीएन की उपस्थिति या अनुपस्थिति से निर्धारित होते हैं। एंटीबॉडी प्रोटीन से बना एक कण है जो कुछ पदार्थों का विरोध कर सकता है। ये कण Blood Plasma में होते हैं। एंटीजन का मतलब ऐसे कण होते हैं जो शरीर में ऐसे एंटीबॉडीज पैदा कर सकते हैं। यह लाल Blood कोशिकाओं की सतह पर होता है। प्रत्येक व्यक्ति में विभिन्न एंटीजन और एंटीबॉडी की व्यवस्था द्वारा Blood Group का निर्धारण किया जाता है। Blood Group निर्धारित करने की इस प्रणाली को ABO प्रणाली कहा जाता है।

Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)