अहमदाबाद में अटल फूट ओवरब्रिज

Admin
0
अहमदाबाद को अब कुछ ही दिनों में एक नया तोहफा मिलेगा। यह नया तोहफा साबरमती नदी पर बना प्रतिष्ठित फुट ओवरब्रिज है। इस फुट ओवरब्रिज का 95 फीसदी से ज्यादा काम पूरा हो चुका है। हम सबसे पहले आपको इस पुल के अंदर का दृश्य दिखाएंगे। पुल से दिखाई देने वाली साबरमती नदी का खिंचाव, पुराने और नए शहर को जोड़ने वाला पुल और दोनों किनारों पर स्थित आसपास के क्षेत्र सभी को रोमांचित कर देंगे।


अहमदाबाद में साबरमती फुट ओवरब्रिज के अंदर का दृश्य देखें यहाँ






कैसा है यह मशहूर फुट ओवरब्रिज?

पुल 300 मीटर लंबा और 14 मीटर चौड़ा है, जिसके बीच में 100 मीटर की दूरी है। यह विशाल फुट ओवरब्रिज RCC पाइल फाउंडेशन और स्टील सपोर्ट पर है। पुल के निर्माण में 2,100 मीट्रिक टन लोहे का इस्तेमाल किया गया था। फुट ओवरब्रिज में RCC फ्लोरिंग, प्लांटर और स्टेनलेस स्टील और कांच की रेलिंग होगी। दोनों ओर पतंग के आकार की मूर्तियां स्थापित की जाएंगी। ड्रोन कैमरों की दृष्टि से यह पुल किसी विशालकाय मछली जैसा लगता है। पुल पर गतिशील LED लाइटें भी लगाई जाएंगी जो रंग बदल सकती हैं, जो रात के अंधेरे में भी पुल शहर की सुंदरता को बढ़ाएगी।

अटल फूट ओवरब्रिज  360


पुल पर दर्शनार्थियों के लिए क्या होगी व्यवस्था?

जैसे-जैसे गुजरात में और खासकर अहमदाबाद में विकास दोहरी गति से हो रहा है, आज अहमदाबाद की पहचान में एक नया पंख जुड़ रहा है और वह है प्रतिष्ठित फुट ओवर ब्रिज। यह ब्रिज इतना आकर्षक है कि आपको ऐसा लगेगा जैसे आप किसी विदेशी देश में हैं। अगर आप रात में शहर में घूमने जाने का सपना देखते हैं और सिंगापुर के अवनवा ब्रिज की ओर आकर्षित होते हैं तो आपको सिंगापुर जाने के लिए लाखों रुपये खर्च करने की जरूरत नहीं है। क्योंकि, हमारे अहमदाबाद में साबरमती नदी पर एक ऐसा ही आकर्षक और रंगीन फुट ओवरब्रिज पहले ही तैयार किया जा चुका है। अहमदाबाद समेत गुजरात और दुनिया के पर्यटक इस पुल पर घूमने का मजा ले सकेंगे।

इस ब्रिज को एलिसब्रिज और सरदारब्रिज के बीच 75 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है। इस ब्रिज को दूर से देखने का मन करेगा कि आप इसे करीब से देखें और पास आते ही आप दूर जाने का मन नहीं करेंगे। क्योंकि, पुल के ढांचे को ही इस तरह से डिजाइन किया गया है कि लोगों को कहीं से भी खींचा जा सके. 300 मीटर का पुल साबरमती रिवरफ्रंट के पूर्व और पश्चिम क्षेत्रों को जोड़ता है। यह पुल पूर्वी और पश्चिमी तट पर विकास और बहुस्तरीय कार पार्किंग को नई दिशा देगा। यहां कला और संस्कृति की झलक भी देखने को मिलेगी। इस ब्रिज का डिजाइन बेहद आकर्षक है। अब देखते हैं इस ब्रिज की क्या खास बात है जिसे देखने का सभी को बेसब्री से इंतजार है.

जानिए क्या हैं इस अटल फुट ओवरब्रिज की विशेषताएं

  • साबरमती नदी पर एलिस ब्रिज और सरदार ब्रिज के बीच एक फुट ओवरब्रिज का निर्माण किया गया
  • पैदल यात्री और साइकिल चालक पूर्वी और पश्चिमी तटों पर आसानी से नेविगेट कर सकेंगे
  • अहमदाबाद के लोग बिना ट्रैफिक के शांति से रिवरफ्रंट का आनंद ले सकेंगे
  • पुल की कुल लंबाई 300 मीटर है और पुल का वजन 2600 मीट्रिक स्टील है
  • पुल सिरों पर 10 मीटर चौड़ा और बीच में 14 मीटर चौड़ा है
  • पुल के ऊपर लकड़ी का फर्श और ग्रेनाइट का फर्श
  • पुल के ऊपर स्टेनलेस स्टील और कांच की रेलिंग
  • पुल के पश्चिमी तट पर फूलों का बगीचा, इवेंट ग्राउंड, एलईडी लाइटिंग
  • पुल के बीच में पतंग के आकार की मूर्ति
  • पुल के ऊपर बनाई जाएगी आर्ट कल्चर गैलरी
  • पुल पर खाने-पीने का स्टॉल भी लगाया जाएगा
  • इस फुट ओवरब्रिज को 74 करोड़ से अधिक की लागत से तैयार किया गया है

74 करोड़ रुपये से अधिक का खर्च

इस परियोजना को 21 मार्च 2018 को साबरमती रिवरफ्रंट डेवलपमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड, यानी SRFDCL द्वारा अनुमोदित किया गया था। उस समय इसकी लागत 74 करोड़ रुपये आंकी गई थी। हालांकि, पुल को तैयार करने की लागत रुपये 90 करोड़ के पार जाने की संभावना है।


पुल की डेकोरेटिव थीम थी बड़ी चुनौती

फुट ओवरब्रिज को रिवरफ्रंट के दोनों ओर वॉक-वे के दो स्तरों से जोड़ा जाएगा, जिससे ऊपर और नीचे दोनों तरफ आसानी से पहुंचा जा सकेगा। पतंग से बने पुल की डेकोरेटिव थीम इतनी आसान नहीं थी। फिर भी, इंजीनियर की कमाल से यह शक्य हो रहा है।

Watch Bridge 360 video : Click here


यह ब्रिज कब खुलेगा?

अहमदाबाद की शोहरत में आज एक और सफलता का गुलदस्ता जुड़ जाएगा। पीएम मोदी ने आज साबरमती रिवरफ्रंट पर 74 करोड़ से अधिक की लागत से प्रतिष्ठित फुट ओवरब्रिज का उद्घाटन किया।

कुछ ही दिनों में आम लोगों के लिए खोल दिया जायेगा

अटल फूट ओवरब्रिज पर कैसे पहुंचे ?

निचे आपको Google Map की Link दी है जिससे आप आसानी से आप Atal Bridge तक पुहंच सकते है 



Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)