बारिश में ये 3 तरीके अपनाकर बनाएं अपने स्मार्टफोन को वॉटरप्रूफ

Admin
0
बारिश के मौसम में घर से बाहर निकलते समय Phone और अन्य गैजेट्स की सुरक्षा का ध्यान रखना जरूरी है। Smartphone वाटरप्रूफ न हो तो इस बात का खास ख्याल रखना पड़ता है। बाजार में ऐसी कई एक्सेसरीज उपलब्ध हैं जो आपके Smartphone को वाटरप्रूफ बना देंगी। साथ ही कुछ टिप्स की मदद से आप अपने Phone को सेफ रख सकते हैं। आइए जानते हैं कुछ ट्रिक्स और टिप्स..

स्मार्टफोन को वाटरप्रूफ बनाये



बारिश में इन 3 तरीकों को अपनाकर बनाएं अपने Smartphone को वाटरप्रूफ, Phone में धूल भी नहीं जाएगा।

अगर बारिश में फोन भीग जाए तो क्या करें और क्या ना करें - जाने यहाँ

1. वाटरप्रूफ कवर का उपयोग

अक्सर Phone सेफ्टी के बाद भी पानी में गिर जाता है। ऐसे में यूजर के पास ऐसा स्मार्ट कवर होना चाहिए जो फोन को वाटरप्रूफ बना दे। हम जिस कवर की बात कर रहे हैं वह बारिश में भी फोन को पूरी तरह से सुरक्षित रखेगा। वाटरप्रूफ कवर भी हार्ड कवर और सॉफ्ट कवर में आता है।

कवर की विशेषता:
इस कवर की खास बात यह है कि यह फोन के साथ कंफर्टेबल है।
यह फीचर फोन और Smartphone के साथ भी आसानी से आता है।
इन कवर्स में फोन रखकर यूजर बारिश में स्विमिंग पूल में भी जा सकता है।
इसमें एक ऐसा डिज़ाइन है जो पानी को फ़ोन के किसी भी हिस्से में प्रवेश नहीं करने देता है।

कवर की कीमत: 200 से 1000 रुपये

कवर के फायदे: ऐसे में Smartphone का इस्तेमाल आसानी से किया जा सकता है। इसमें सभी प्रकार के बटन, नियंत्रण और फोन के अन्य भागों तक पहुंच है। वाटरप्रूफ होने के साथ-साथ यह शॉकप्रूफ और डस्टप्रूफ भी है।

कवर के नुकसान: यदि कवर कठोर सामग्री से बना है, तो यह भारी हो सकता है, या यह इतना बड़ा हो सकता है कि आप आसानी से फोन को अपनी जेब में नहीं रख सकते। कॉल आ भी जाए तो पता नहीं चलेगा।

नोट: बारिश के दौरान वाटरप्रूफ कवर का इस्तेमाल करना चाहिए। फोन को हमेशा ऐसे कवर में नहीं रखना चाहिए।

2. नैनो कोटिंग (पानी प्रतिरोध)

नैनो कोटिंग एक हाइड्रोफोबिक तरल है, जिससे सतह पर कोई पानी नहीं रहता है। इसका उपयोग वाटरप्रूफ इलेक्ट्रॉनिक्स वस्तुओं पर किया जाता है, क्योंकि यह पानी को डिवाइस के अंदर जाने से रोकता है। हालाँकि, यह कोटिंग फोन को वाटरप्रूफ नहीं बनाती है, लेकिन यह इसे सामान्य बारिश और छींटों से बचा सकती है। नैनो कोटिंग को फोन के ऊपर से आसानी से हटाया जा सकता है।

नैनो कोटिंग की कीमत: 500 से 1000 रुपये

नैनो कोटिंग के फायदे: इस कोटिंग के इस्तेमाल से फोन को कोई नुकसान नहीं होता है। इसका मतलब है कि इस लेप को फोन की स्क्रीन पर लगाने से फोन पहले की तरह काम करता है।

नैनो कोटिंग के नुकसान: नैनो कोटिंग को फोन में लगाने के बाद पानी में डुबाने की गलती न करें। यह शॉकप्रूफ नहीं है। फोन की स्क्रीन की ब्राइटनेस बहुत कम है।

नोट: यह फोन को रोजाना पानी के छींटों, धूल से बचाता है। एक अच्छी गुणवत्ता वाली कोटिंग का जीवन 6 महीने तक होता है।

आपके वाहन का चालान कटा है या नहीं? केवल 1 मिनट में ऑनलाइन चेक करे

3. वाटरप्रूफ फोन स्क्रीन

फोन को वाटरप्रूफ बनाने का यह सबसे सस्ता तरीका है। वाटरप्रूफ फोन की स्क्रीन एक पतली चिपकने वाली फिल्म होती है, जिसे सीधे फोन पर लगाया जाता है। फोन को ठीक करने के बाद स्क्रीन को पीछे से ढक दिया जाता है। हालांकि, यह एक स्थायी समाधान नहीं है और इसे केवल कुछ दिनों के लिए ही इस्तेमाल किया जा सकता है।

वाटरप्रूफ स्क्रीन की कीमत: 200 से 2000 रुपये

वाटरप्रूफ स्क्रीन के फायदे: सस्ते और किसी भी सामान्य फोन के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है।

वाटरप्रूफ स्क्रीन के नुकसान: फोन को चार्ज करने के लिए त्वचा को हटाना पड़ता है। ध्वनि की गुणवत्ता बिगड़ती है। सीमित समय के लिए ही इस्तेमाल किया जा सकता है।

नोट: डेली लिक्विड फोन को नुकसान से बचाता है। फोन को धूल और गंदगी के साथ-साथ पानी से भी बचाता है।

Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)