सरकारी नौकरी जानकारी ग्रुप Join Whatsapp Join Now!

चलने के क्या फायदे होते है - जानिए यहाँ



खाना, सोना और Walking जीवन के महत्वपूर्ण पहलू हैं। अच्छा स्वास्थ्य उचित आहार और व्यायाम पर आधारित है।वर्तमान युग में, मानव जीवन गतिहीन हो गया है और गतिहीन जीवन लंबे समय में कई बीमारियों को जन्म देता है। शरीर मोटा हो जाता है, वजन बढ़ जाता है, मांसपेशियां सख्त हो जाती हैं। युवावस्था के दौरान युवा तंग होने के बजाय सुस्त हो जाते हैं। स्थिति से बचने के लिए एक अमृत उपचार है। और नियमित चलना है।

चलने के क्या फायदे होते है


पैदल मार्ग साफ सुथरा और हवादार होना चाहिए। चलना एक हल्का व्यायाम है। टहलने का सबसे अच्छा समय सुबह का होता है। सुबह हवा साफ होती है। रात्रि विश्राम के बाद तन-मन तरोताजा हो जाता है। साथ ही सुबह के समय हवा में प्रदूषण भी कम होता है। सुबह का समय न हो तो शाम को टहलने में भी मजा आता है। पैदल चलने से कई बीमारियां दूर होती हैं।

हार्ट अटैक की शुरुआत से 1 महीने पहले शरीर में ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं - जाने यहाँ

चलते समय ध्यान रखने योग्य बातें

जब आप अपने स्वास्थ्य में सुधार के लिए चलना शुरू करते हैं, तो सुनिश्चित करें कि यह शरीर के अन्य हिस्सों को नुकसान नहीं पहुंचाता है आरामदायक जूते और मोजे पहनें। हो सके तो कॉटन मोजे पहनें। पसीना सोख लेगा।

चलते समय कुछ ढीले कपड़े पहनें। गर्म सूती कपड़े पहनें। यदि आप शाम को टहलने जाते हैं, तो ऐसे रंग चुनें जो अंधेरे में ध्यान देने योग्य हों। पहले 2 मिनट के लिए थोड़ा धीमा चलें। मांसपेशियों को थोड़ा गर्म होने दें। यह मांसपेशियों की चोट को रोकेगा।

इसी तरह सैर के अंत में गति को धीमा कर दें ताकि हृदय और मांसपेशियों को कम काम न करना पड़े।चलते समय सांस फूलने लगे तो थोड़ा धीमा कर लें।


Ads
ghas upar chalva na fayda
Click here

चलने के फायदे


1. लंबा जीवन

जापान में वैज्ञानिकों ने पाया है कि जो लोग दिन में एक से डेढ़ किलोमीटर पैदल चलते हैं, उनमें न चलने वालों की तुलना में मौत का खतरा लगभग आधा होता है। वयस्क जो बाद के जीवन में नियमित रूप से चलते हैं उनका जीवन लंबा और स्वस्थ होता है।

2. मूड में सुधार, तनाव कम करता है

आजकल ज्यादातर बीमारियों की जड़ तनाव है। स्वाभाविक रूप से चलने से शरीर में एंडोर्फिन रसायन उत्पन्न होते हैं। इससे मूड में सुधार होता है। डिप्रेशन, फ्रस्ट्रेशन या डिप्रेशन के प्राथमिक लक्षणों में नियमित रूप से टहलना फायदेमंद होता है। तनाव कम होने से जीवन में रुचि बढ़ती है।

3. वजन घटाने में मदद करता है

यदि आप पहले से ही मोटे हैं, तो नियमित रूप से चलने की आदतें आपको अतिरिक्त चर्बी कम करने में मदद कर सकती हैं। डाइट कंट्रोल के साथ नियमित वॉकिंग एक्सरसाइज से अतिरिक्त चर्बी पिघलती है, मांसपेशियां मजबूत होती हैं।

चेहरे पर पड़े ब्लैकहेड्स से परेशान हैं तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खा

4. इरेक्टाइल डिस्फंकशन

शारीरिक तनाव या मानसिक तनाव के कारण शुरू होने वाले संवेदी इरेक्शन के मामले में आमतौर पर 35 से 45 साल की उम्र के बीच चलना बहुत फायदेमंद होता है। दिन में दो किलोमीटर पैदल चलने से पुरुषों में संवेदी उत्तेजना की समस्या को रोका जा सकता है।

5. पाचन संबंधी समस्याओं से छुटकारा

पाचन संबंधी किसी भी समस्या से निजात पाने के लिए पैदल चलना एक आसान और असरदार तरीका माना जाता है। भूख महसूस करने के लिए आपको रोज सुबह या शाम 5 मिनट टहलना चाहिए। अगर पाचन ठीक नहीं है तो आपको खाना खाने के बाद कम से कम 100 कदम चलना चाहिए। ऐसा करने से अपच, पेट फूलना, एसिडिटी, कब्ज जैसी प्राथमिक पाचन समस्याएं दूर हो जाती हैं।

6. वजन बढ़ने से रोकता है

कोलोराडो विश्वविद्यालय में सेंटर फॉर ह्यूमन न्यूट्रिशन के शोधकर्ताओं ने पाया है कि दैनिक गतिविधियों के अलावा, एक दिन में 2,000 कदम मोटापे को रोकने में मदद कर सकते हैं। डाइट कंट्रोल न होने पर भी एक्स्ट्रा कैलोरी बर्न करने के लिए इतने सारे कदम उठाने चाहिए। इसके लिए वैज्ञानिकों ने कहा है कि 200 कैलोरी बर्न करने के लिए 1000 कदम चलना चाहिए।

7. कैंसर के खतरे को कम करता है

जब से कैंसर की खोज हुई है, शोध से पता चला है कि पैदल चलना या व्यायाम करना कैंसर से लड़ने का एक महत्वपूर्ण कारक है। नियमित रूप से चलने से ब्रेस्ट कैंसर, कोलन कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, लंग कैंसर और बोन कैंसर का खतरा कम हो जाता है। जिन लोगों को कैंसर का पता चला है, उनके लिए पैदल चलना भी फायदेमंद माना जाता है। कीमोथेरेपी के दौरान नियमित रूप से चलने से कीमोथेरेपी के दुष्प्रभाव कम हो जाते हैं।

8. हृदय रोग और स्ट्रोक के जोखिम को कम करता है

वॉकिंग का सीधा असर ब्लड सर्कुलेशन पर पड़ता है। शरीर में रक्त परिसंचरण में सुधार रक्त वाहिकाओं की दक्षता में सुधार करता है। हृदय में नियमित रक्त संचार होने से हृदय तेजी से धड़कने लगता है। रक्त वाहिकाओं में कोलेस्ट्रॉल जमा नहीं होता है। इससे हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है। यह उन लोगों में हृदय क्रिया को बेहतर बनाने में भी मदद करता है जिन्हें पहले से ही हृदय रोग है।

9. डायाबिटीज को कम करता है

डायाबिटीज और मोटापा सीधे तौर पर जिम्मेदार हैं। वजन बढ़ने से शरीर की चर्बी बढ़ती है। वसा शरीर के चयापचय में हस्तक्षेप करती है। यह साबित हो चुका है कि मोटे लोगों में डायाबिटीज होने का खतरा अधिक होता है। यदि आपका वजन अधिक नहीं है तो पैदल चलने से आपको वजन कम करने और नियंत्रण में रहने में मदद मिलती है। यह टाइप 2 डायाबिटीज के विकास के जोखिम को कम करता है। पिट्सबर्ग विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पाया है कि जिन लोगों को डायाबिटीज है, वे दिन में 20 से 30 मिनट पैदल चलकर अपने रक्त शर्करा को नियंत्रित कर सकते हैं।

क्या आप खड़े होकर पानी पीते है | यह नुकसान हो सकता है

10. दिमाग की शक्ति बढ़ती है

अमेरिकी वैज्ञानिकों ने देखा है कि प्रतिदिन लगभग 6 मिनट प्रति दिन सोलह मिनट की गति से चलने से सोचने की क्षमता में सुधार होता है। वैज्ञानिकों ने पाया है कि 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में चलने से मस्तिष्क की क्षमताओं पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। युवावस्था से वयस्कता तक नियमित चलने से बुद्धि तेज होती है और याददाश्त में सुधार होता है। हम उम्र के रूप में मस्तिष्क को धीमा करके चलना रोका जा सकता है।

अगर आपको ये लेख पसंद आया तो कृपया कमेंट करें और शेयर करें



Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता

अगर आपको Viral News अपडेट चाहिए तो हमे फेसबुक पेज Facebook Page पर फॉलो करे.

सरकारी योजना सरकारी भर्ती 2020
The views and opinions expressed in article/website are those of the authors and do not Necessarily reflect the official policy or position of www.reporter17.com. Any content provided by our bloggers or authors are of their opinion, and are not intended to malign any religion, ethic group, club, organization, Company, individual or anyone or anything.



कोई टिप्पणी नहीं

Jason Morrow के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.