सरकारी नौकरी जानकारी ग्रुप Join Whatsapp Join Now!

पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल कैसे चोरी होता है और पेट्रोल चोरी से कैसे बचें?



हम सभी जानते हैं कि आजकल Petrol और Diesel बहुत महंगा ईंधन है। कई देशों की अर्थव्यवस्थाएं इस प्रकार के ईंधन पर निर्भर हैं। ये देश ईंधन की बिक्री और निर्यात करके अपनी अर्थव्यवस्था को मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं। हमारे देश की बात करें तो भारत Petrol और Diesel का उत्पादन नहीं करता है। भारत उन्हें दूसरे देशों से खरीदता और आयात करता है। जिससे भारत में इस तेल की कीमत काफी महंगी है।

पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल कैसे चोरी होता है और पेट्रोल चोरी से कैसे बचें?



आपने कई बार सुना होगा कि Petrol Pump पर Petrol की चोरी हो रही है और हो सकता है कि जिस पंप पर आप Petrol-Diesel भरवाते हों, वहां भी धोखाधड़ी हो। क्योंकि ये धोखाधड़ी करके करोड़ों रुपये कमाते हैं। तो आइए आज हम आपको बताते हैं कि Petrol Pump मालिक कैसे चोरी करते हैं और इससे कैसे बचें।

Mobile में देखे सबसे सस्ता पेट्रोल नजदीक में कहा मिलता है ! जाने यहाँ 

Petrol-Diesel कैसे चोरी होता है

मान लीजिए आप किसी Petrol Pump पर गए और वहां आपको पांच सौ रुपये के Petrol या Diesel भरवाए। हालांकि पांच सौ रुपये का Petrol या Diesel भरने में एक मिनट से लेकर डेढ़ मिनट तक का समय लगता है, लेकिन इस समय आपका सारा ध्यान पंप में चल रही रीडिंग पर है। इस दौरान अगर कंपनी का कोई कर्मचारी 10 सेकेंड के लिए अपना हैंडल बंद कर देता है तो आपको 500 रुपये Petrol और Diesel पर 50 रुपये से 100 रुपये का नुकसान होता है। आप नहीं जानते कि जब आप रीडिंग देख रहे हों तो कार के टैंक में Petrol जा रहा है या नहीं।

पिछले साल उत्तर प्रदेश के कई Petrol Pump पर इलेक्ट्रिक चिप्स की पेट्रोलिंग चोरी का खुलासा हुआ था। रहस्योद्घाटन से पता चला कि Petrol Pump मालिकों ने इंजीनियरों की मदद से एक विशेष प्रकार की चिप्स बनाई थी। जिससे चिप वाले वाहन और Petrol टैंक में जाने वाले Petrol की मात्रा कम हो जाती है। नतीजतन, ग्राहकों को पूरा भुगतान करना पड़ता था लेकिन Petrol कम मिलता था। जिससे Petrol Pump मालिकों को लाखों रुपये का फायदा हुआ।

Petrol-Diesel चोरी से कैसे बचें?

आपको केवल उसी Petrol Pump पर ईंधन भरना चाहिए जहां एक डिजिटल मीटर रीडिंग मशीन है, क्योंकि पुरानी मशीन में धोखाधड़ी की संभावना अधिक होती है।

अगर आपका मीटर बहुत तेज चल रहा है तो समझ लीजिए कि कुछ गड़बड़ है। मीटर की स्पीड तेज होने से Petrol भी कम दिया जाता है। ऐसे में आप Petrol Pump कर्मचारी से मीटर की स्पीड कम करने को कह सकते हैं।

कभी-कभी राउंड फिगर की मात्रा में Petrol नहीं भरना चाहिए। जैसे कई लोग 100, 200, 500 और 2000 के राउंड आंकड़ों में Petrol भरते हैं। कई Petrol Pump मालिकों के पास पहले से ही एक मशीन है और ऐसे नंबर के लिए फिक्स करते हैं जिसमें आपको कम Petrol मिलता है। इसलिए Petrol-Diesel 90 रुपये, 190 या 2010 में भरवाए।

यदि आप चार पहिया या बड़े वाहन में ईंधन भर रहे हैं, तो आपको वाहन के नीचे उतरना चाहिए और ईंधन भरने के लिए पंप पर खड़े होना चाहिए। यदि आप वाहन के अंदर बैठे हैं, तो पंप कर्मचारी इसका लाभ उठा सकता है और थोड़ी देर के लिए नोजल को बंद कर सकता है जिससे Diesel कम हो जाता है।

अपने फोन पर दैनिक पेट्रोल डीजल के रेट प्राप्त करें यहाँ

Petrol या Diesel भरवाने के लिए मीटर को हमेशा शून्य पर सेट करना चाहिए, अन्यथा कम Petrol या Diesel टैंक में प्रवेश करने की संभावना है। इसके अलावा Petrol-Diesel भरते समय मीटर रीडिंग के साथ-साथ कंपनी को नोजल पर भी नजर रखनी चाहिए।

पेट्रोल भरवाते समय ये गलती कभी मत करना 👇👇👇

अगर आपको ये लेख पसंद आया तो कृपया कमेंट करें और शेयर करें



Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता

अगर आपको Viral News अपडेट चाहिए तो हमे फेसबुक पेज Facebook Page पर फॉलो करे.

सरकारी योजना सरकारी भर्ती 2020
The views and opinions expressed in article/website are those of the authors and do not Necessarily reflect the official policy or position of www.reporter17.com. Any content provided by our bloggers or authors are of their opinion, and are not intended to malign any religion, ethic group, club, organization, Company, individual or anyone or anything.



2 टिप्‍पणियां:

  1. लेख बड़ा ही अच्छा है मगर ये सब खुल्ले आम चले और सरकार को पता ना हो ऐसा कैसे हो सकता है..? सरकार ko चाहिए की हर पंप की अचानक विजिट हो और जहां गरबड मालूम पड़े उसका लाइसेंस रद्द करके उससे प्रॉपर्टी को जप्त कर ली जाय रोज लाखो लोग पेट्रोल भरवाते है सब लोगों को चैक करना नहीं आता तो क्या सरकार की जिम्मेदारी नहीं कि उन्हें उनके हक्क का दिलाए..?
    सब कुछ जागो ग्राहक जागो कहने से नहीं चलता.. सरकार अपनी जिम्मेदारी निभाएं..

    जवाब देंहटाएं
  2. Government kay kare rahi hey ye usko roakna chahiye or ese petrol pump ko shield kare dena chahiye

    जवाब देंहटाएं

Jason Morrow के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.