कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट में भूल को कैसे सुधारे - जाने यहाँ

Admin
0


कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में देशभर में तेजी से टीकाकरण किया जा रहा है। इसके लिए लोगों को CoWin ऐप पर रजिस्टर करने की आवश्यकता होती है, लेकिन इस बीच कई लोगों को यह समस्या हो रही है कि उन्होंने पंजीकरण के दौरान गलती से विवरण भर दिया है। इससे वैक्सीन प्रमाण पत्र में गलत विवरण सामने आया है। तो आइए जानें CoWin पोर्टल (cowin.gov.in) पर इसे कैसे सुधारें।

कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट में भूल को कैसे सुधारे - जाने यहाँ


Covid-19 टीकाकरण प्रमाणपत्र घरेलू अंतर्राष्ट्रीय यात्रा के लिए एक महत्वपूर्ण दस्तावेज के रूप में उभरा है, केंद्र ने CoWin टीकाकरण प्रमाणपत्र पर नाम, जन्म वर्ष, लिंग मुद्रित किसी भी त्रुटि को ठीक करने के लिए लाभार्थियों को सक्षम करने के लिए एक नई सुविधा शुरू की है। Aarogya setu App के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने बुधवार को ट्वीट किया, "अब आप अपने CoWin टीकाकरण प्रमाण पत्र में अपने नाम, जन्म का वर्ष और लिंग में सुधार कर सकते हैं, अगर अनजाने में त्रुटियां आई हैं।"

क्या बदला जा सकता है

यदि आपने कोरोना वैक्सीन प्राप्त करने के लिए CoWin पोर्टल पर पंजीकरण के दौरान गलती से अपना नाम, जन्मतिथि या लिंग गलत दर्ज कर लिया है और यह भी वैक्सीन प्रमाण पत्र में गलत दिखाया जा रहा है, तो इसे अब CoWin पोर्टल पर ठीक किया जा सकता है। फिर टीकाकरण प्रमाण पत्र पर सही नाम, जन्म तिथि और लिंग दिखाई देगा। हालाँकि विवरण केवल एक बार अपडेट किया जा सकता है।

भूल को कब सुधारा जा सकता है

यदि आपको टीका लगाया गया है और टीकाकरण प्रमाण पत्र में कोई भूल है, तो आप इसे CoWin पोर्टल पर ठीक कर सकते हैं। पोर्टल पर पंजीकरण के दौरान किए गए अपडेट और नए प्रमाणपत्र को फिर से डाउनलोड किया जा सकता है। टिका लगने के बाद आप भूल को सुधार सकते हो।

भूल को कैसे सुधारे

- सबसे पहले CoWin पोर्टल पर जाएं। CoWin पोर्टल के लिए यहाँ क्लिक करे
- इसके बाद आपको अपना मोबाइल नंबर डालना है और लॉग इन करना है।
- इसके बाद अकाउंट के ऊपर Raise an Issue पर क्लिक करें।
- सदस्यों के नाम को सेलेक्ट करने के बाद Correction in Certificate पर क्लिक करें।
- फिर नाम, जन्म का वर्ष, लिंग और फोटो ID नंबर का विकल्प नीचे आ जाएगा।
- जहां से आप भूल को सुधार सकते हैं।

वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद क्या मिलेगा विशेष लाभ - जाने यहाँ

सोशल मीडिया पर शेयर ना करे वैक्सीन प्रमाण पत्र

गृह मंत्रालय के तहत काम करने वाली संस्था साइबर मित्र ने ट्वीट कर लोगों को सोशल मीडिया पर टीकाकरण प्रमाण पत्र साझा नहीं करने की सलाह दी है। साइबर मित्र ने ट्वीट किया कि कोरोना वैक्सीन प्रमाणपत्र में नाम, उम्र और लिंग और दूसरी डोज़ की तारीख सहित कई विवरण हैं। सोशल मीडिया पर इस जानकारी को साझा करना महंगा पड़ सकता है। इस जानकारी का इस्तेमाल करके साइबर जालसाज आपको धोखा दे सकते हैं। इसलिए टीकाकरण प्रमाणपत्र को सोशल मीडिया पर शेर न करें।


Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)