About Me

पतंजलि के एमडी बालकृष्ण के पिता थे चौकीदार आज है देश के सबसे अमीर शख्स जानिए पूरा सफर

यूपी से मेगा फूड पार्क को हटाने की खबर आने के बाद राज्य और देश की सियासत गर्म है. बीजेपी के करीबी माने जाने वाले योगगुरु रामदेव के इस मेगा फूड पार्क में करीब 6 हजार करोड़ के इंवेस्टमेंट की तैयारी थी. 5 मई को अचानक पतंजलि के एमडी आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि यूपी सरकार ने भूमि का आवंटन रद्द कर दिया है. आननफानन में बालकृष्ण ने बीजेपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार को मौज मस्ती करने वाली सरकार करार दे दिया. साथ ही सरकार को उदासीन बताते हुए फूडपार्क को कहीं और शिफ्ट करने का ऐलान कर दिया. ये योगी सरकार को सीधा झटका देने वाली खबर थी.

                                        पतंजलि के एमडी बालकृष्ण के पिता थे चौकीदार आज है देश के  सबसे अमीर शख्स जानिए पूरा सफर

पतंजलि के एमडी आचार्य बालकृष्ण, रामदेव के गुरुकुल के जमाने के सहयोगी हैं और फिलहाल देश के सबसे अमीर शख्सियतों में से एक हैं. लेकिन हमेशा से ऐसा नहीं रहा था.


photo by hindi news

एक नेपाली चौकीदार के बेटे हैं आचार्य बालकृष्ण

बॉलीवुड के किसी भी मसाला फिल्म की कहानी को पीछे छोड़ दे आचार्य बालकृष्ण की असली कहानी. इनका असली नाम है नारायण प्रसाद सुवेदी और जन्म साल 1974 में एक नेपाली परिवार में हुआ था, बचपन गरीबी में बीता पिता चौकीदार का काम किया करते थे


रामदेव से मुलाकात ने बदल दी जिंदगी  

फोटो- ट्विटर


हरियाणा के एक गुरुकुल नारायण प्रसाद सुवेदी की मुलाकात रामदेव से हुई. ये 1980 का दशक था. दोनों के बीच काफी बनने लगी और धीरे-धीरे रामदेव के सबसे खास सहयोगी बन गए सुवेदी, एक नया नाम मिला आचार्य बालकृष्ण. फिलहाल, बालकृष्ण देश की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक पतंजलि आयुर्वेद के एमडी और चेहरे हैं. साल 2017 में उनका नाम फोर्ब्स की लिस्ट में भी आ चुका है. रिपोर्ट्स के मुताबिक पतंजलि की सबसे ज्यादा हिस्सेदारी आचार्य बालकृष्ण के ही पास है


कंपनी मुश्किलों में शुरू हुई थी.

1995 में पतंजलि कंपनी का रजिस्ट्रेशन हुआ था, रिपोर्ट्स के मुताबिक उस वक्त बालकृष्ण के जेब में महज साढे तीन हजार रुपये थे 10 हजार उधार लेकर कंपनी का रजिस्ट्रेशन बालकृष्ण ने ही कराया. अब हालात ये है कि साल 2017व में सिर्फ घी बेचकर कंपनी ने 1466 करोड़ कमाए थे. फोर्ब्स की लिस्ट में बालकृष्ण को 48वां सबसे अमीर आदमी भी बताया गया.

बालकृष्ण कुछ साल पहले भूमिगत हो गए थे. 2012 में उनपर फर्जी पासपोर्ट और डिग्री का मामला सुर्खियों में आया था, पुलिस पूरी शिद्दत से उन्हें ढूंढ रही थी. बिलकुल सादे कपड़ों में नजर आने वाले बालकृष्ण फिलहाल जड़ी बूटियों पर एक किताब लिख रहे हैं और रिसर्च कर रहे हैं.

आपको ये न्यूज़ कैसा लगा हमे कमेंट कर के जरूर बताये अगर अच्छा लगेतो शेयर करे  हर रोज अच्छी न्यूज़ केलिए हमसे जुड़े रहे 




Post a Comment

0 Comments