क्या आपके इलाके में खुलेगी पान मसाला की दुकानें ? जानिए अभी

Admin
0


पान मसाला के व्यसनी पब्लिक जगह पर इसका सेवन नही कर सकते। सार्वजनिक रूप से तंबाकू का उपयोग निषिद्ध है।

कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए देश ने एक बार फिर से तालेबंदी की है। देश में लॉकडाउन को दो सप्ताह के लिए बढ़ा दिया गया है। देश में अब 17 मई तक तालाबंदी होगी। सरकार ने यह निर्णय लिया है। सरकार ने कहा कि निर्णय किया गया था क्योंकि वर्तमान लॉकडाउन को समाप्त करने से नुकसान हो सकता है।


देश की अधिकांश आबादी वर्तमान में घरों में कैद है। ऐसे समय में, जीवन की आवश्यकताओं से निपटने के लिए असुविधाजनक है। हालांकि, कुछ प्रकार की वस्तुओं को अनुमति देने में कुछ राहत मिली है। लेकिन इस सब के बीच, गुटखे के आदी लोगों के लिए सबसे अच्छी खबर यह है कि गुजरात में अब पान मसाला की दुकानों की अनुमति है।

APL -1 कार्ड धारक को राज्य में फिर से मुफ्त में मिलेगा अनाज, पूरी जानकारी

गुजरात और विशेष रूप से सौराष्ट्र में, पान मसाला खाने का चलन अधिक है। पान मसाले के शौकीन लोगों के लिए अच्छी खबर यह है कि उन्हें गुजरात में पान गल्ला खोलने की अनुमति है। लेकिन शर्त एक ही है, कि गुजरात में केवल ग्रीन जोन क्षेत्र में पान गल्ला खोलने की अनुमति है।

पानमसाला सार्वजनिक रूप से इसका व्यसन नहीं कर सकते। सार्वजनिक रूप से तंबाकू का उपयोग निषिद्ध है। इसी समय, ग्राहकों के बीच 6 फीट की दूरी बनाए रखने के लिए पान पार्लर और दुकान संचालकों के मालिकों की आवश्यकता होगी।

BSNL, AIRTEL और Vodafone - Idea वाले घर बैठे पैसे कमाने का मौका

गुजरात में ग्रीन ज़ोन में कुल पाँच जिले हैं, जहाँ पान मसाला की दुकानें खोली जाएंगी। इन पांच जिलों में मोरबी, अमरेली, पोरबंदर, जूनागढ़, द्वारका शामिल हैं।

हालांकि, केंद्र सरकार ने यह छूट दी है और अंतिम निर्णय राज्य सरकार को लेना है। इसका मतलब है कि राज्य सरकार अगर चाहे तो छूट वापस ले सकती है। इसलिए यह देखा जाना बाकी है कि राज्य सरकार 3 मई से पहले अलग फैसला लेगी या केंद्र सरकार के फैसले का पालन करेगी या नहीं।

पति पत्नी की विशेष सरकारी योजना, सालाना मिलेंगे 72000 रुपये

3 मई के बाद पान - मसाला दुकान खुल सकती है लेकिन सिर्फ ग्रीन ज़ोन वाले जिले में, और आखरी निर्णय राज्य सरकार रहेगा अगर वो केंद्र सरकार के इस नियम को बदल ना चाहे तो बदल सकती है. 

गुजरात में ग्रीन ज़ोन में कुल पाँच जिले हैं, जहाँ पान मसाला की दुकानें खोली जाएंगी। इन पांच जिलों में मोरबी, अमरेली, पोरबंदर, जूनागढ़, द्वारका शामिल हैं।

पान-मसाला की दुकान नहीं खोलने का गुजरात सरकार का फैसला



Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)