21 अधिक जरुरी दवाएं महंगी होंगी, कीमतें 50 प्रतिशत बढ़ जाएंगी

Admin
0



Life Saving Drug Antibiotic, anti-allergic, malaria and vitamin C दवा की कीमतें बढ़ने वाली हैं। यह बीसीजी वैक्सीन जैसे तपेदिक, विटामिन सी, एंटीबायोटिक्स जैसे मेट्रोनिडाजोल और बेंज़िलपेनिसिलिन, मलेरिया  दवा क्लोरोक्वीन और कुष्ठरोगी दवा डैप्सन पर लागू होगा।

केंद्र सरकार ने 21 महत्वपूर्ण दवाओं medicines के लिए Ceiling कीमत में 50 प्रतिशत की वृद्धि को मंजूरी दी है। दवा मूल्य नियामक NPPA ने शुक्रवार को कहा कि 21 महत्वपूर्ण दवाओं की Minimum Price में 50% तक की कीमत बढ़ सकती है। इन दवाइयों की medicine minimum  rate सरकार द्वारा निर्धारित किया जाता है। कंपनी बाजार के आधार पर दवाओं की कीमत निर्धारित करती है।


भारत सरकार का बड़ा फैसला Aadhaar Card में अब सुधार नहीं होगा

Medicines prices rise

फार्मा क्षेत्र लंबे समय से NPPA के साथ Price बढ़ाने की मांग कर रहा है। उन्होंने कहा कि ड्रग्स बनाने में इस्तेमाल होने वाला कच्चा माल अब महंगा है और Price बढ़ाने की अनुमति दी जानी चाहिए। कई दवा सामग्री चीन से भारत की Pharama कंपनी मँगवाती। Price War वजह से चीन ने इसकी कीमत में 200 प्रतिशत तक की कीमत बढ़ाई है।

NPPA ने कहा है कि ये सभी दवाएं महत्वपूर्ण दवाएं हैं। इसका उपयोग कई लोगों द्वारा किया जाता है और ये दवाएं सार्वजनिक स्वास्थ्य कार्यक्रम के लिए आवश्यक हैं। दवा कंपनियों ने सरकार से इसके उत्पादन को रोकने की अपील की, लेकिन सरकार ने इसे मंजूरी नहीं दी।

Voter Id के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? सिर्फ 5 मिनट में

एक नियम अनुसार, दवा की Price बाजार के आधार पर निर्धारित की जाती है। दवा बनाने का खर्च के आधार पर तय नहीं होती। दवा की मार्किट में कितनी डिमांड उसके आधार पर निर्धारण किया जाता है। सरकार ने आवश्यक दवाओं के लिए विशेष नियम बनाए हैं। जिससे ये दवाइया हर जगह पायी जाती है और सस्ती भी होती है


Note :

किसी भी हेल्थ टिप्स को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य ले. क्योकि आपके शरीर के अनुसार क्या उचित है या कितना उचित है वो आपके डॉक्टर के अलावा कोई बेहतर नहीं जानता


Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)