Bank Loan Tips : बैंक में लोन देने की मापदंड हुआ बड़ा बदलाव ! सैलरी देख नहीं मिलेगा लोन

तीन बड़ी सरकारी बैंक ने अपने लोन देने के नियम मैं किये बड़े बदलाव, अब आपका सैलरी या वेतन देख नहीं देंगे लोन.

भारत की तीन सरकारी बैंक ने अपने नियम बड़े बदलाव किये जिसे लोन भुगतान अमल करेगा, जिनमे बैंक ऑफ़ बड़ोदा, बैंक ऑफ़ इंडिया और सिंडिकेट बैंक है, इन बैंको ने अपने ग्राहकों क्रेडिट स्कोर के आधार पर लोन भुगतान करना शरू किया है. जिसका क्रेडिट स्कोर जितना अच्छा  उसको उतनी ही अच्छी लोन मिलेगी।

Bank Tips : गलत Account में भेजे गए पैसे इस तरीके से वापस लें

Bank ki nayi policy kya hai ? Loan reject kyu ho raha hai ?

- कुछ बैंक ने अपने लोन भुगतान की नियम मैं बदलाव किए है.
- बैंक अब लोन के लिए आपकी सैलरी की जगह आपका क्रेडिट स्कोर को ज्यादा महत्त्वपूर्ण बना रहे है
- यदि आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा होगा तो आपको Home Loan कम व्याज पर मिलेगा।

यदि आप घर लोन पर खरीद करना चाहते हो तो आपके लिए ये बहोत ही महत्वपूर्ण चीज है. क्योंकि कुछ बैंक ने अपने लोन भुगतान नियम में बदलाव किये है. अब बैंक आपको लोन के लिए सिर्फ सैलरी देख कर नहीं देगा। बैंक अब New Home Loan के लिए सिर्फ सैलरी के आधार पर नहीं देंगे वो आपका क्रेडिट स्कोर भी चेक करेगा।

उच्च क्रेडिट स्कोर तो आकर्षक ब्याज दर बैंक देगा

C.S Sudheer ( CEO and Founder of IndianMoney.com) "बैंकों द्वारा बेहतर जांच का मतलब आकर्षक ब्याज दरों से है। ऐसा इसलिए है क्योंकि बैंकों के सख्त मानक आपको आकर्षक ब्याज दरों पर Home Loan प्राप्त करने के लिए एक अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाए रखने के लिए मजबूर करते हैं।"

New Home Loan Rate NBFCs

Public Sector Banks Minimum home loan interest rates
State Bank of India 8.15% - 8.30%
Bank of Baroda 8.75% - 9.75%
Punjab National Bank 8.65% - 8.70%
Syndicate Bank 9.75%
Allahabad Bank 8.50% - 8.90%
Private Sector Banks
Axis Bank 8.90% - 9.10%
ICICI Bank 8.65% - 9.20%
HDFC Bank 8.35% - 8.55%
Housing Finance Companies
Indiabulls Housing Finance 8.70% - 10.95%
LIC Housing Finance 8.40% - 9.05%
Dewan Housing Finance Corporation 9.75%
L&T Housing Finance 8.35%
GIC Housing Finance 8.7%

* As on May 30, 2019
Loan Tenure: Up to 30 years
Maximum home loan amount: Up to 90 percent of the property value
Source: MyLoanCare.in


निजी क्षेत्र के बैंकों की ब्याज दरें सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की तुलना में थोड़ी अधिक हैं। Naveen Kukreja (CEO & Co-founder, paisabaar.com)  कहते हैं, "आपको हमेशा एक अच्छा क्रेडिट स्कोर (750 से ऊपर) बनाए रखने की कोशिश करनी चाहिए, क्योंकि इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ इंडिया और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया जैसे कुछ बैंकों ने क्रेडिट स्कोर वाले लोगों को कम ब्याज दर की पेशकश शुरू कर दी है।"

What is credit score ? क्रेडिट स्कोर क्या है ?

आपका क्रेडिट स्कोर एक तीन-अंकीय संख्या है, जो इस बात से संबंधित है कि आप कर्ज चुकाने की कितनी संभावना रखते हैं। बैंक और ऋणदाता इसका उपयोग यह तय करने के लिए करते हैं कि वे आपको क्रेडिट कार्ड या Loan के लिए अनुमोदित करेंगे या नहीं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि वास्तव में आपके पास एक से अधिक क्रेडिट स्कोर हैं?





How credit scores are created / क्रेडिट स्कोर कैसे बनता है ?


आपके स्कोर आमतौर पर उन चीजों पर आधारित होते हैं जैसे आप कितनी बार समय पर भुगतान करते हैं और आपके पास कितने खाते हैं जो आपके पास अच्छी स्थिति में हैं।

आपका स्कोर कभी भी आपकी जाती, लिंग, धर्म, वैवाहिक स्थिति या राष्ट्रीय मूल जैसी व्यक्तिगत जानकारी के आधार पर नहीं होता।

How to improve your CIBIL score? / CIBIL score कैसे बढ़ाया जा सकता है ?

आप वित्तीय समझदारी का अभ्यास करके अपने स्कोर में सुधार कर सकते हैं - समय पर अपने क्रेडिट कार्ड के बिलों का भुगतान करें, अपने लोन की EMI को टाइम पर भुगतान करें, EMI कभी भी चूक ना हो

Benefits of a good CIBIL score / अच्छे CIBIL score के लाभ

Home Loan, Personal Loan जल्दी मिलेगा, कम ब्याज पर लोन मिल सकता है, credit card जल्द मिल सकता है

Disadvantages for low credit score - कम क्रेडिट स्कोर से नुकसान

  • बैंक दस्तावेज़ीकरण की एक जटिल प्रक्रिया का पालन करते हैं और इसलिए, वे एक होम लोन आवेदन के लिए अधिक समय लेते हैं।
  • यदि आपका कम क्रेडिट स्कोर है (यानी, 750 से नीचे), तो आप को होम लोन, क्रेडिट कार्ड मिलने मैं दिकत होंगी।
    इस इन्फोग्राफ से आपको समझने मैं आसानी होगी।

Credit Score info-graph

Bank News : अब सुबह इतने बजे खुलेंगी Bank और ATM में हुई Transactions Free - Bank open at this morning Change

Subscribe to receive free email updates:

0 Response to "Bank Loan Tips : बैंक में लोन देने की मापदंड हुआ बड़ा बदलाव ! सैलरी देख नहीं मिलेगा लोन"

Post a Comment