Google New Privacy Policy : गूगल ने की नई प्राइवेसी पॉलिसी की घोषणा

गूगल ने यूजर्स की प्राइवेसी को लेकर बड़ा कदम उठाया है। कंपनी ने अपने एक बयान में कहा है कि उसके यूजर्स की निजता की सुरक्षा उसकी नैतिक जिम्मेदारी है और इसके लिए वह जल्द ही कई सारे नए फीचर्स जारी करेगी। गूगल ने कहा है कि निजता की सुरक्षा पर किसी खास लोगों का अधिकार नहीं होना चाहिए। दुनियाभर के तमाम इंटरनेट यूजर्स को समान रूप से प्राइवेसी और सिक्योरिटी मिलनी चाहिए।

गूगल के चीफ प्राइवेसी ऑफिसर केथ एनराइट ने मीडिया से कहा कि गूगल अपने सभी प्रोडक्ट्स के साथ मिलने वाली प्राइवेसी और सिक्योरिटी को पहले से मजबूत करने की तैयारी में है। इसके अलावा नए अपडेट के बाद यूजर्स के पास अपनी प्राइवेसी की सिक्योरिटी पर पूरा कंट्रोल होगा।


केथ एनराइट ने आगे कहा कि गूगल ने अपने प्रोडक्ट्स को बेहतर बनाने के लिए पहले भी कई कदम उठाए हैं। नए अपडेट के बाद यूजर्स एक टैप से अपने सभी गूगल अकाउंट एक्सेस कर पाएंगे। इसके अलावा कंपनी जल्द ही गूगल मैप्स में भी इंकॉग्निटो मोड (प्राइवेट मोड) जैसे फीचर्स देने वाली है।

केथ के मुताबिक कंपनी इस बात को स्वीकार करती है कि थर्ड पार्टी डेवलपर्स के साथ डाटा शेयरिंग को लेकर उसके पास अच्छी नीतियां हैं, लेकिन इसे और बेहतर बनाने की जरूरत है। वहीं पिछले साल कंपनी ने डेवलपर्स डाटा एक्सेस को लेकर पॉलिसी अपडेट जारी किया था जिसके बाद यूजर्स के निजी डाटा पर डेवलपर्स का कंट्रोल कम हो गया।

सपने में आने वाले इन संकेतों को देखकर, जानें कि क्या अच्छा होने वाला है और क्या बुरा !!

केथ एनराइट के मुताबिक गूगल जल्द ही डेवलपर्स पॉलिसी में बदलाव करने वाला है जिसके बाद डेवलपर्स यूजर्स से सिर्फ उन्हीं चीजों का एक्सेस ले सकेंगे जो जरूरी होंगी। साथ ही गूगल क्रोम के जरिए भी डेवलपर्स यूजर्स से अनावश्यक एक्सेस नहीं ले सकेंगे।

टेक्नोलॉजी कंपनी Google अपने यूजर्स के डाटा प्राइवेसी और सिक्युरिटी पर फोकस करने के लिए नए-नए फीचर्स ला रहा है। Google के मुताबिक, इन नए फीचर्स की मदद से यूजर्स को बेहतर ऑनलाइन एक्सपीरियंस मिलेगा। Google के चीफ प्राइवेसी ऑफिसर Keith Enright ने मीडिया को वीडियो कॉल के जरिए बताया कि Google अपने यूजर्स को बेहतर प्राइवेसी सेटिंग्स, सभी प्रोडक्ट्स और सर्विस को बेहतर बनाने के अपने कमिटमेंट को दोगुना किया है।

उन्होंने आगे कहा कि हमने इसके लिए कई सकारात्मक कदम उठाएं है। साथ ही हम अपने प्रोडक्ट्स को इनोवेट और रिफ्लेक्ट करके नए और बेहतर फीचर्स के साथ लैस कर रहे हैं ताकि यूजर्स हमारे प्रोडक्ट्स को बेहतर तरीके से ऑनलाइन कंट्रोल कर सके। Google ने अपने प्रोडक्ट्स को बेहतर बनाने के लिए जो असरदार कदम उठाए हैं उनमें सभी प्रोडक्ट और सर्विस को गूगल अकाउंट के जरिए वन टैप के साथ एक्सेस किया जा सकेगा।

इन हसीनाओं के साथ जुड़ चुका है केएल राहुल का नाम

Keith Enright ने आगे कहा है कि हमने यह पहचाना है कि हमारे पास थर्ड पार्टी को यूजर्स डाटा एक्सेस करने के लिए मजबूत पॉलिसी और प्रॉसिजर है। पिछले साल हमने पॉलिसी को अपडेट करने के बारे में घोषणा किया था। इस पॉलिसी अपडेट में डेवलपर्स को किसी भी जानकारी को एक्सेस करने और शेयर करने पर रोक लगाया गया है। कंपनी अब इस पॉलिसी में अतिरिक्त बदलाव कर रही है जिसमे डेवलपर्स को केवल क्रोम एक्सटेंशन में ही किसी भी फीचर में जरूरी बदलाव के लिए डाटा को एक्सेस करने के लिए आग्रह करना होगा।

Google ने आज दो बड़े बदलावों की घोषणा की कि यह कैसे अपने उपयोगकर्ताओं की गोपनीयता की रक्षा के लिए क्रोम एक्सटेंशन डेवलपर्स की अपेक्षा करता है। इस गर्मी को शुरू करने के लिए, विस्तार डेवलपर्स को केवल उन डेटा तक पहुंच का अनुरोध करना होगा जो उन्हें अपनी सुविधाओं को लागू करने की आवश्यकता है - और कुछ भी नहीं। इसके अलावा, कंपनी विस्तार डेवलपर्स की संख्या का विस्तार कर रही है, जिन्हें गोपनीयता नीतियों को पोस्ट करना होगा।

कंपनी उन परिवर्तनों की भी घोषणा कर रही है कि कैसे तृतीय-पक्ष डेवलपर्स अपने उपयोगकर्ताओं को वहां फ़ाइलों तक पहुंच प्रदान करने के लिए Google ड्राइव API का उपयोग कर सकते हैं।

भारत में बंद हो सकता है Redmi Note 7 स्मार्टफोन

यह सब Google के प्रोजेक्ट स्ट्रोब का एक हिस्सा है, जिसे कंपनी ने पिछले साल लॉन्च किया था, जिस पर पुनर्विचार करने के लिए कि कैसे तृतीय-पक्ष डेवलपर्स आपके Google खाते और आपके Android उपकरणों पर डेटा तक पहुंच सकते हैं। उदाहरण के लिए, यह प्रोजेक्ट स्ट्रोब था, जिसने Google के API के साथ उन समस्याओं का पता लगाया, जिन्होंने कंपनी के असफल सामाजिक नेटवर्क को बंद कर दिया। कंपनी ने पिछले अक्टूबर में घोषित क्रोम एक्सटेंशन के कुछ काम भी निकाले।

Google फ़ेलो और VP ऑफ़ इंजीनियरिंग बेन स्मिथ ने आज की घोषणा में लिखा है, "थर्ड-पार्टी ऐप्स और वेबसाइटें ऐसी सेवाएँ बनाती हैं, जिनका उपयोग लाखों लोग काम करने के लिए करते हैं और अपने ऑनलाइन अनुभव को अनुकूलित करते हैं।" "इस पारिस्थितिकी तंत्र को सफल बनाने के लिए, लोगों को आश्वस्त होना चाहिए कि उनका डेटा सुरक्षित है, और डेवलपर्स को सड़क के स्पष्ट नियमों की आवश्यकता है।

आज की घोषणाओं के साथ, Google का उद्देश्य इन नियमों को प्रदान करना है। विस्तार डेवलपर्स के लिए, इसका मतलब है कि अगर उन्हें किसी सुविधा को लागू करने के लिए कई अनुमतियों की आवश्यकता होती है, तो उन्हें उदाहरण के लिए, कम से कम डेटा संभव तक पहुंचना चाहिए। पहले, कंपनी ने कुछ सिफारिश की थी। अब, यह आवश्यक है।

Twitter और Linkedin में आया नया अपडेट

पहले, केवल डेवलपर जो एक्सटेंशन लिखते हैं जो व्यक्तिगत या संवेदनशील डेटा को संभालते हैं, उन्हें गोपनीयता नीतियां पोस्ट करनी पड़ती हैं। आगे बढ़ते हुए, इस आवश्यकता में ऐसे एक्सटेंशन भी शामिल होंगे जो किसी भी उपयोगकर्ता द्वारा प्रदान की गई सामग्री और व्यक्तिगत संचार को संभालते हैं। "बेशक, एक्सटेंशन को पारदर्शी होना चाहिए कि वे उपयोगकर्ता डेटा को कैसे संभालते हैं, उस डेटा के संग्रह, उपयोग और साझाकरण का खुलासा करते हैं," स्मिथ कहते हैं।

ड्राइव एपीआई के लिए, Google अनिवार्य रूप से सेवा को थोड़ा और बंद कर रहा है और विशिष्ट फ़ाइलों तक तीसरे पक्ष की पहुंच को सीमित कर रहा है। जिन ऐप्स को बैकअप सेवाओं सहित व्यापक पहुंच की आवश्यकता है, उन्हें Google द्वारा सत्यापित किया जाना चाहिए। ड्राइव API परिवर्तन अगले वर्ष तक प्रभावी नहीं होंगे।

हम अपने सभी visitors से अनुरोध करते है की अगर आपको इस वेबसाइट से सहायता मिली हो तो अपने सभी मित्रो को इसके बारे में बताये। और उनके साथ शेयर करे।

Subscribe to receive free email updates:

0 Response to "Google New Privacy Policy : गूगल ने की नई प्राइवेसी पॉलिसी की घोषणा"

Post a Comment