Tik Tok हो सकता है बंध

चाइनीज शॉर्ट वीडियो मोबाइल ऐप टिक टॉक को लेकर पिछले साल से ही भारत में विरोध चल रहा है। पिछले साल भी कई बार टिक टॉक को बंद करने की मांग उठी थी, वहीं अब मद्रास हाई कोर्ट की मदुरै बेंच ने केंद्र सरकार को आदेश दिया है कि सरकार टिक टॉक की डाउनलोडिंग पर रोक लगाए। इसके अलावा कोर्ट ने यह भी कहा है कि सरकार टिक टॉक के वीडियो को फेसबुक जैसे अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर होने पर भी रोक लगाए। आइए जानते हैं पूरा मामला।

मदुरै बेंच ने बुधवार को केंद्र सरकार को टिक टॉक को लेकर कुछ निर्देश दिए हैं जिनमें टिक टॉक की डाउनलोडिंग और वीडियो की शेयरिंग को बंद करने की बात कही गई है। बता दें कि टिक टॉक के वीडियोज में अश्लील सामग्री को लेकर हमेशा से लोगों की शिकायत रही है।

source : bd-info.com
कोर्ट ने सरकार से पूछा है कि क्या वह ऐसा कोई कानून लाएगी जिससे बच्चों को साइबर क्राइम बचाया जा सके और उन्हें दूर रखा जा सके। बता दें कि अमेरिका में बच्चों को साइबर क्राइम से बचाने के लिए चिल्ड्रेन्स ऑनलाइन प्राइवेसी प्रोटेक्शन ऐक्ट है।

PUBG खेलने के लिए अब भरने होंगे पैसे

वहीं हाल ही में भारतीय जनता पार्टी ने भी भारत में हेलो और टिकटॉक जैसे चाइनीज ऐप को लेकर भारतीय चुनाव आयोग में शिकायत की है और इन चाइनीज ऐप पर कार्रवाई की मांग की है।

गौरतलब है कि इससे पहले स्वदेशी जागरण मंच ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी टिक टॉक जैसे चाइनीज ऐप पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी और कहा था कि इन ऐप्स के  माध्यम से देश की अर्थव्यवस्था या सुरक्षा को खतरा है।

हम अपने सभी visitors से अनुरोध करते है की अगर आपको इस वेबसाइट से सहायता मिली हो तो अपने सभी मित्रो को इसके बारे में बताये। और उनके साथ शेयर करे।

Subscribe to receive free email updates:

0 Response to "Tik Tok हो सकता है बंध"

Post a Comment