Tuesday, May 1, 2018

अगर आप को फ़ोटोशॉप आता हैं तो मोदी सरकार आपको एक काम के 50000 रुपये देगी



मोदी सरकार लगातार आम आदमी को प्रशासन के काम से जोड़ने के लिए आयोजन करती रहती है. एकबार फिर मोदी सरकार ने इसी तरह का एक आयोजन किया है. इस आयोजन में हिस्सा लेने के लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है. आप अपने घर पर बैठकर ही इसमें हिस्सा लेकर 50 हजार रुपये तक जीत सकते हैं. आगे जानें इसके बारे में. 

ये 5 संकेत बताते हैं कि आप अमीर हो सकते हैं या नहीं, चांस मत खोये जल्दी करे

इससे पहले किसको मिला था 

1. Rupees Symbol

उदय कुमार ने भारतीय मुद्रा के लिए रुपया प्रतीक के लिए डिजाइन की संकल्पना की। प्रतीक देवनागरी पत्र और 'रो' और रोमन राजधानी पत्र 'आर' का उपयोग करके बनाया गया है। पत्र हिंदी में रुपिया शब्द और अंग्रेजी में रुपए से प्राप्त किए गए हैं, इसलिए प्रतीक भारतीयों और अंतरराष्ट्रीय उपयोगकर्ताओं दोनों के लिए सार्थक है। यह प्रतीक शिरो रेखा, क्षैतिज शीर्ष रेखा का भी उपयोग करता है जो भारतीय देवनागरी लिपि के लिए अद्वितीय है। दो क्षैतिज रेखाएं "बराबर" चिह्न बनाती हैं, जो त्रि-रंगीन भारतीय ध्वज को भी उजागर करती है। अंबिका सोनी ने 15 जुलाई, 2010 को नए रुपये के प्रतीक को मंजूरी दे दी। उदय कुमार को उनके प्रयासों के लिए 250,000 रुपये का पुरस्कार राशि से सम्मानित किया गया।

2. तेल और गैस संरक्षण पखवाड़े के लिए टैगलाइन प्रतियोगिता

रेशु शर्मा को 10000 रुपये मिले थे और २ और लोगो को भी पुरस्कार मिला था

इस तरह के कई कांटेस्ट इंडिया गवर्नमेंट मैं हुए है


क्यों और किसके लिए 

1. Bharatnet

भारतनेट ऑप्टिकल फाइबर केबल (ओएफसी), रेडियो और सैटेलाइट द्वारा 2.5 लाख ग्राम पंचायतों (जीपी) को जोड़ने के लिए दुनिया की सबसे बड़ी ग्रामीण ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी परियोजना है। ... परियोजना भारत सरकार द्वारा भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड (बीबीएनएल) के माध्यम से लागू की जा रही है।

चयनित विजेता को 50,000 / - रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाएगा। पांच सांत्वना पुरस्कार, 10,000 / प्रत्येक को भी दिया जाएगा।

प्रविष्टियों को जमा करने की अंतिम तिथि 15 मई, 2018 11:00 बजे है।

अधिक जानकारी क लिए : https://www.mygov.in/task/bharatnet-logo-design-contest/ 




2. Udan 

नागरिक उड्डयन मंत्रालय (एमओसीए) देश में नागरिक उड्डयन क्षेत्र के विकास और विनियमन के लिए राष्ट्रीय नीतियों और कार्यक्रमों के निर्माण के लिए जिम्मेदार है। भारत में नागरिक उड्डयन उद्योग नई ऊंचाइयों को प्राप्त कर रहा है। यह पिछले 3 वर्षों के दौरान देश के सबसे तेजी से बढ़ते उद्योगों में से एक के रूप में उभरा है और इसे वर्तमान में दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा घरेलू नागरिक विमानन बाजार माना जाता है।
उदान (उदय देश का आम नाग्रिक) भारत सरकार की 'क्षेत्रीय कनेक्टिविटी स्कीम' (आरसीएस) है, जिसका क्षेत्रीय वायु कनेक्टिविटी को सस्ती बनाकर / उत्तेजित करने का प्राथमिक उद्देश्य है। हवाई यात्रा को सस्ती और व्यापक बनाने के अलावा, यह भारत के सभी क्षेत्रों और राज्यों के समावेशी राष्ट्रीय आर्थिक विकास, नौकरी की वृद्धि और वायु परिवहन बुनियादी ढांचे के विकास को बढ़ावा देने के लिए भी डिज़ाइन किया गया है।

जमा करने की अंतिम तिथि 15 मई, 2018, सुबह 10:00 बजे है

अधिक जानकारी क लिए : https://www.mygov.in/task/udan-logo-design-competition/

योग्यता: 
 
यह प्रतियोगिता भारत और विदेशों के सभी भारतीयों के लिए खुली है। प्रासंगिक भारतीय कानूनों के तहत पंजीकृत संगठन भी भाग लेने के पात्र हैं। बीबीएनएल और डीओटी के कर्मचारियों के साथ-साथ उनके परिवार के सदस्यों को इस प्रतियोगिता में भाग लेने की अनुमति नहीं है। Mygov.in के मुताबिक प्रति व्यक्ति या संगठन के लिए केवल एक प्रविष्टि की अनुमति होगी।

सबमिशन: सभी प्रविष्टियां www.mygov.in के रचनात्मक कोने सेक्शन में जमा की जानी चाहिए।

लोगो (ओं) का विजेता डिज़ाइन बीबीएनएल की बौद्धिक संपदा / कॉपीराइट होगा।

बीबीएनएल को इनाम विजेता लोगो को संशोधित करने के लिए अनजान अधिकार होगा और किसी भी रूप में किसी भी जानकारी या डिज़ाइन सुविधा को जोड़ या हटाएं।

किसी भी प्रकृति की चोरी की अनुमति नहीं है। किसी को भी दूसरों के कॉपीराइट पर उल्लंघन करने के लिए प्रतियोगिता से अयोग्य घोषित किया जाएगा। लोगो डिजाइन मूल होना चाहिए और भारतीय कॉपीराइट अधिनियम, 1957 या इस संबंध में लागू किसी अन्य कानून के किसी भी प्रावधान का उल्लंघन नहीं करना चाहिए।

लोगो को किसी भी प्रिंट और डिजिटल मीडिया प्लेटफार्म में पहले प्रकाशित नहीं किया जाना चाहिए था और इसमें कोई उत्तेजक, आपत्तिजनक या अनुचित सामग्री नहीं होनी चाहिए।

विजेता को ईमेल के माध्यम से घोषित किया जाएगा या MyGov ब्लॉग पेज पर उसका नाम घोषित करने के तरीके से घोषित किया जाएगा।

भरतनेट लोगो प्रतियोगिता के तकनीकी पैरामीटर इस प्रकार हैं:

प्रतिभागियों को केवल जेपीईजी / जेपीजी / पीएनजी / एसवीजी प्रारूप में लोगो अपलोड करना चाहिए।

लोगो को डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म पर डिज़ाइन किया जाना चाहिए।

प्रतिस्पर्धा के विजेता को एक संपादन योग्य और खुले फ़ाइल प्रारूप में डिज़ाइन जमा करने की आवश्यकता होगी।

लोगो रंग में डिजाइन किया जाना चाहिए। लोगो का आकार चित्र या परिदृश्य में 5 सेमी * 5 सेमी से 60 सेमी * 60 सेमी तक भिन्न हो सकता है।

Note :

लोगो वेबसाइट / सोशल मीडिया चैनलों जैसे ट्विटर / फेसबुक और मुद्रित सामग्री जैसे बी / डब्ल्यू प्रेस विज्ञप्ति, स्टेशनरी और साइनेज, लेबल इत्यादि पर उपयोग योग्य होना चाहिए।

लोगो कम से कम 300 डीपीआई के साथ उच्च संकल्प में होना चाहिए। 





 

अगर आप को फ़ोटोशॉप आता हैं तो मोदी सरकार आपको एक काम के 50000 रुपये देगी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Reporter 17

0 comments: